Friday, 5 August 2022

सिर्फ एक वीडियो कॉल से शख्स को लगा 7.50 लाख का चूना, पूरा मामला जानकर रह जाएंगे हैरान

Mumbai : मुंबई में हेल्थकेयर में काम करने वाले एक 43 वर्षीय व्यक्ति के साथ आपत्तिजनक वीडियो कॉल के जरिए ठगी का एक नया मामला सामने आया है. दरअसल यहां एक वीडियो कॉल पर साइबर जालसाजों के एक गिरोह ने व्यक्ति से 7 लाख 53 हजार रुपयों की ठगी कर डाली. अब इस मामले को लेकर मुंबई के खार (ईस्ट) के निर्मल नगर पुलिस थाने में बुधवार को प्राथमिकी दर्ज की गई. इस बीच पिछले साल की तुलना में इस साल मुंबई में इस तरह से आपत्तिजनक वीडियो कॉल के जरिए ठगी के मामलों की संख्या में काफी वृद्धि देखी गई है. ऐसे मामलों की संख्या पिछले साल में दर्ज की गई 54 एफआईआर से बढ़कर इस साल पहले छह महीनों में ही 47 हो गई है.


इस तरह से शुरू हुआ पूरा मामला


हालिया मामले में 43 वर्षीय व्यक्ति ने पुलिस को बताया कि उसे 14 जुलाई को अपने फेसबुक प्रोफाइल पर अंकिता शर्मा नाम की महिला का फ्रेंड रिक्वेस्ट आया था. उसने फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली और दोनों फेसबुक मैसेंजर पर चैट करने लगे. इसके बाद महिला ने वीडियो कॉल की और आपत्तिजनक हरकतें शुरू कर दीं. उस आदमी ने कॉल काट दी जिसके बाद उसने उसका मोबाइल नंबर मांगा. व्यक्ति ने नंबर शेयर किया और उसने, उसे व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल किया और फिर से वही हरकतें करने लगीं और व्यक्ति को अपना चेहरा दिखाने के लिए कहा.


आपत्तिजनक वीडियो के बदले पहले की गई ये डिमांड


इसके बाद व्यक्ति ने उसे व्हाट्सएप और फेसबुक पर ब्लॉक कर दिया. अगले दिन, उसे व्हाट्सएप पर एक संदेश मिला, जिसमें जालसाज ने उसकी वीडियो कॉल रिकॉर्डिंग शेयर की और 15,000 रुपये की मांग की, ऐसा न करने पर उसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अपलोड कर दिया जाएगा, ऐसी धमकी भी दी. उस आदमी ने पैसे दे दिए लेकिन जालसाज ने और 15,000 रुपये मांगे. इसके बाद उसने जालसाज को ब्लॉक कर दिया. अगले दिन, पीड़ित को दिल्ली साइबर पुलिस से एक पुलिस अधिकारी के रूप बताने वाले एक अन्य व्यक्ति का फोन आया. वीडियो कॉल में, एक पुलिस अधिकारी ड्रेस पहने व्यक्ति ने पीड़ित को बताया कि उसका आपत्तिजनक वीडियो यूट्यूब पर है और साइबर विभाग को इसके बारे में कई शिकायतें मिल रही हैं.


पीड़ित को इस तरह डराया गया


जालसाज ने उस शख्स को वीडियो डिलीट करने के लिए यूट्यूब से एक शख्स का नंबर दिया. जब पीड़ित ने नंबर पर संपर्क किया, तो एक अन्य व्यक्ति ने यूट्यूब से कार्यकारी के रूप में वीडियो को हटाने के लिए कुछ लाख रुपये की मांग की, जिसके लिए उसने बाध्य किया. बकौल द इंडियन एक्सप्रेस, अगले दिन खुद को पुलिस अधिकारीबताने वाले जालसाज ने वापस फोन किया और कहा कि महिला अंकिता शर्मा ने आत्महत्या कर ली है और उसे मामले में आरोपी बनाया गया है. उन्होंने मामले को निपटाने के लिए पांच लाख रुपये की मांग की. पीड़ित ने इस तरह कुल 7.53 लाख रुपये का भुगतान किया, लेकिन घोटालेबाज और अधिक पैसों की मांग करते रहे, जिसके बाद उसने पुलिस से संपर्क करने का फैसला किया और शिकायत दर्ज कराई.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.