Wednesday, 10 August 2022

बीते 24 घंटे में मिले 16047 नए कोरोना मरीज, 54 की मौत; दिल्ली में पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 15.41% पर पहुंची

देश के कई शहरों में कोरोना का खतरा फिर से बढ़ गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक बीते दिन 16047 नए मामले सामने आए हैं। कोरोना के नए मामले देखें तो ये आंकड़ा एक दिन पहले की तुलना में 25% से अधिक है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के कारण 54 लोगों की मौत हुई है। देश में पॉजिटिविटी रेट एक दिन पहले जहां 3.50% थी, वहीं अब ये बढ़कर 4.94% हो गया है। गौरतलब है कि एक दिन पहले देश में कोरोना के 12751 नए मामले सामने आए थे और डेली पॉजिटिविटी रेट 3.50% था। वीकली पॉजिटिविटी रेट 4.69% था। अब डेली पॉजिटिविटी रेट 4.94% पहुंच गया है। कोरोना के कारण मौत के सर्वाधिक मामले केरल से सामने आए हैं।

केरल में कोरोना के कारण 6 लोगों की जान गई है। इसी अवधि में 19539 लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ भी हुए हैं। देश में इस समय कोरोना के 1 लाख 28 हजार 261 एक्टिव मामले हैं। राहत की बात ये है कि पॉजिटिविटी रेट 5% से नीचे है लेकिन ये भी अब 5% के काफी करीब पहुंच गई है।

राजधानी दिल्ली में एक बार फिर कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है। एक‌ दिन में कोरोना के 2495 नए संक्रमित सामने आए हैं। वहीं 7 लोगों की कोरोना संक्रमण के चलते मौत हो गई है। हैरानी की बात ये है कि पॉजिटिविटी रेट अब बढ़ कर 15.41% पर पहुंच गई है। स्वास्‍थ्य विभाग के अनुसार दिल्ली में कुल एक्टिव मामलों की संख्या 8506 हो गई है। पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के मामले 21 जनवरी के बाद से सबसे ज्यादा हैं। उल्लेखनीय है कि 21 जनवरी को कोरोना संक्रमण की दर 18.04% थी।

महाराष्ट्र में कोरोना के 1,782 नए मामले आए हैं और संक्रमण से सात और मरीजों की मृत्यु हुई है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि नए मामलों के साथ राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 80,62,519 हो गई और सात मरीजों की मृत्यु होने से महामारी से अबतक जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 1,48,150 हो गई है। सोमवार को महाराष्ट्र में कोविड-19 के 1,005 नए मामले आए थे और चार मरीजों की मृत्यु हुई थी। मुंबई में कोविड-19 के 479 नए मामले आए, लेकिन संक्रमण से किसी की मृत्यु नहीं हुई। अहमदनगर, सतारा और रत्नागिरि जिलों में 1-1 मरीज की मृत्यु हुई है। पुणे नगर निगम और कोल्हापुर जिला में 2-2 मरीज की मौत हुई है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.