Wednesday, 10 August 2022

मुंबई में बरसात ने ढाया जम कर कहर, पिछले 24 घंटे में 100 मिमी गिरा पानी

पिछले कुछ घंटों में मुंबई समेत महाराष्ट्र में बरसात ने जमकर कहर बरपाया है. इस महीने में सबसे ज्यादा बारिश मुंबई में मंगलवार को हुई. अब तक हुई बारिश से तिगुनी बरसात का रिकॉर्ड दर्ज किया गया. मंगलवार को सुबह 8.30 बजे से 24 घंटे में 124 मिमि बरसात रिकॉर्ड की गई. इनमें सुबह 2.30 बजे से 8.30 बजे तक इन छह घंटों में 100 मिमी से ज्यादा बरसात का रिकॉर्ड दर्ज किया गया. इस दौरान सबसे ज्यादा बरसात होने की वजह से भारतीय मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया है.


पिछले कुछ घंटों में मुंबई में जोरदार बरसात ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है. हालांकि मंगलवार के मुकाबले बुधवार को हालात जरा नॉर्मल से हैं. लेकिन मौसम विभाग ने एक बार फिर शनिवार को जोरदार बरसात होने का अनुमान जताया है.


जनता से सतर्कता और सावधानी की अपील

लेकिन बुधवार को भी मुंबई समेत इसके आस-पास के क्षेत्रों में बरसात का जोर कायम रहने का अनुमान पहले ही जताया गया है. गुरुवार से शनिवार तक हल्के से मध्यम बरसात होने का अंदाज जताया जा चुका है. शनिवार को बरसात का जोर एक बार फिर बढ़ने के संकेत हैं.


बरसात का जोर फिर बढ़ेगा एक बार, शनिवार का इंतजार

गुजरात के समुद्र तटीय भागों से लेकर केरल के तटीय भागों तक कम दाब का क्षेत्र तैयार होने की वजह से बरसात का जोर बढ़ने की संभावनाएं हैं. मौसम विभाग के मुताबिक यह जोर एक बार फिर शनिवार को दिखाई देगा. मुंबई के सांताक्रूज वेधशाला के अधिकारियों के मुताबिक 13 अगस्त से एक बार मूसलाधार बरसात होती हुई दिखाई देगी.


महाराष्ट्र के कोंकण, पश्चिम महाराष्ट्र, विदर्भ क्षेत्रों में भी जम कर बरसात

पिछले कई घंटों में मुंबई में पहले ही काफी बरसात हो चुकी है. मंगलवार को तो मुंबई की बरसात ने तो रिकॉर्ड ही तोड़ दिया है. वहीं कोंकण समेत पश्चिमी महाराष्ट्र, मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ में भी बरसात ने रिकॉर्डी ही तोड़ दिया है. कोल्हापुर में तो नदी खतरे के निशान तक पहुंच चुकी है. नागपुर, वर्धा, चंद्रपुर, भंडारा, गढ़चिरोली- विदर्भ के इन इलाकों में फिर बन रहे हैं बाढ़ से हालात. कहीं पुल पानी के नीचे आ गए हैं तो कहीं सड़कों पर पानी भर जाने से गांव का संपर्क बाकी इलाकों से टूट गया है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.