Tuesday, 2 August 2022

मुंबई: सनकी वॉचमैन ने महिला को 20वीं मंजिल से फेंका, फिर भी बच गई जान


मुम्बई उप नगर मालाड पश्चिम में एक ऐसा मामला सामने आया है जहाँ एक बिल्डिंग के सुरक्षा रक्षक ने एक महिला को 20 मंजिल की छत पर ले गया और वहां से उसे छत के नीचे फेंक दिया. उसकी किस्मत अच्छी थी कि वह 18वें मंजिल की बालकनी में लगाये गए छज्जे में अटक गई. तुरंत पुलिस और फायर ब्रिगेड घटनास्थल पर पहुंची और उसे सही सलामत बचा लिया. आरोपित सिक्योरिटी गार्ड वारदात के बाद भाग गया था, जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.


18वीं मंजिल पर बने शेड की वजह से बची जान


मालाड पुलिस के मुताबिक, 26 साल की एक महिला मालाड पश्चिम ब्लू होराइजन टावर में काम करती है. 28 जुलाई को सुबह 9 बजकर 45 मिनट पर जब वह अपना काम खत्म करके घर जा रही थी कि वहां पर तैनात सुरक्षा रक्षक अर्जुन सिंह आया. उसने महिला से कहा कि एक महिला 20 वीं मंजिल के ए विंग में रहने आई है. उसे एक कामवाली की तलाश है. वह एक दिन का 3 हजार रुपये तक देने को तैयार है. पीड़िता महिला अर्जुन के साथ उस मालिक के घर गयी, तो घर के मालिक ने आधे घंटे के बाद आने के लिए कहा. पीड़ित महिला टैरेस पर सूख रहे कपड़े लेने के लिए चली गई. महिला के अनुसार पीछे से अर्जुन आया और उसका गला पकड़कर टैरेस से नीचे फेंक दिया और भाग गया. इधर महिला 18वीं मंजिल की खिड़की पर बने शेड पर अटक गई.


पुलिस-फायर ब्रिगेड ने महिला को बचाया


खबर मिलते ही मालाड पुलिस और फायर ब्रिगेड तत्काल घटनास्थल पर पंहुची. महिला को खिड़की से सुरक्षित निकाला गया. महिला के गले, सिर और हाथ में मामूली चोट लगी थी, जिसके इलाज के लिए शताब्दी अस्पताल भेज दिया गया. मालाड पुलिस ने सुरक्षा रक्षक अर्जुन सिंह पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की और आज उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.


ब्लैकमेलिंग के चलते हत्या की कोशिश?


इस संबंध में आरोपित का कहना है कि महिला से उसके संबंध थे. जिसे लेकर वो उसे ब्लैकमेल कर पैसा लेती रहती थी. जिससे तंग आकर मैंने उसे रास्ते से ही हटाने की कोशिश की. वहीं महिला ने उसके साथ किसी प्रकार का संबंध होने से इनकार किया है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.