Thursday, 28 July 2022

मुंबई पुलिस को VVIPs के दौरों के चलते बुलेटप्रूफ गाड़ियों की दरकार, 10 वाहन खरीदने का भेजा प्रस्ताव


Mumbai:
मुंबई में वीवीआईपी (VVIPs) के दौरों के समय बुलेटप्रूफ वाहनों के लिए कोई मारामारी ना हो इसके लिए मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने कई वाहनों को खरीदने का प्रस्ताव रखा है. गौरतलब है कि मुंबई पुलिस द्वारा बुलेटप्रूफ वाहनों के साथ 20 रेग्यूलर टोयोटा फॉर्च्यूनर (Regular Toyota Fortuners) के साथ 10 बुलेटप्रूफ टोयोटा फॉर्च्यूनर (Bulletproof Toyota Fortuners) खरीदने का प्रस्ताव रखा गया है.

सूत्रों ने बताया कि ये 10 गाड़ियां राज्य में कहीं भी वीवीआईपी आवाजाही के लिए उपलब्ध रहेंगे. गौरतलब है कि  Z+ सिक्योरिटी लेने वाले VVIP में भारत के राष्ट्रपति, राज्य के राज्यपाल, सीएम, डिप्टी सीएम, विदेशी गणमान्य व्यक्ति और कुछ निजी व्यक्ति शामिल हैं

मुंबई पुलिस के पास कितनी बुलेटप्रूफ गाड़िया हैं?

एक IPS अधिकारी के मुताबिक, “मुंबई पुलिस के पास तीन बुलेटप्रूफ वाहन हैं जिनका इस्तेमाल Z+ सुरक्षा पाने वालों के लिए किया जाता है. आमतौर पर इन तीनों का इस्तेमाल सीएम, डिप्टी सीएम और गवर्नर के लिए किया जाता है. इसलिए, जब भी कोई चौथा वीवीआईपी शहर में आता है, तो हमें राज्य के अन्य हिस्सों से बुलेटप्रूफ वाहन लाने के लिए मारामारी करनी पड़ती है.”

2011-12 में भी बुलेटप्रूफ वाहनों को बदलने का रखा गया था प्रपोजल

अधिकारी ने आगे बताया कि, जब यह पता चला कि डीजीपी कार्यालय भी बुलेटप्रूफ गाड़ियों के लिए अनुमति लेने की प्रक्रिया में है, तो मुंबई पुलिस ने भी अपने खुद के बुलेटप्रूफ वाहन खरीदने का प्रस्ताव पेश कर दिया. सूत्रों ने बताया कि 2011-12 में भी मौजूदा बुलेटप्रूफ वाहनों को बदलने का प्रस्ताव पेश किया गया था लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया गया.

मुंबई पुलिस को प्रस्ताव मंजूर किए जाने का है भरोसा

अधिकारी ने बताया कि फिलहाल यह प्रस्ताव राज्य के गृह विभाग के पास है और मुंबई पुलिस इस बात को लेकर आश्वसत है कि उसका प्रपोजल मंजूर कर लिया जाएगा. सूत्रों ने कहा कि कई बार जब कोई वीवीआईपी अपने एस्कॉर्ट के साथ आता है, तो मुंबई पुलिस द्वारा उपलब्ध कराए गए वाहन महिंद्रा बोलेरो या टाटा सूमो इन वाहनों से मेल नहीं कर पाते हैं. इसलिए, टैली में 20 और टोयोटा फॉर्च्यूनर को जोड़ने का निर्णय लिया गया है. एक अधिकारी ने कहा कि चूंकि टोयोटा बुलेटप्रूफ फॉर्च्यूनर का प्रॉडक्शन नहीं करती है, इसलिए वे मुंबई पुलिस को डिलीवर करने पहले गाड़ियों को बुलेटप्रूफ बनाने के लिए मॉडिफाई करेंगे. 

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.