Monday, 25 July 2022

महाराष्ट्र: असली शिवसेना मोदी के साथ, केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले के बयान ने बढ़ाई सियासी हलचल

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) की सियासत में फिलहाल घमासान मचा हुआ है। उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे गुट के बीच में जोरदार जुबानी जंग शुरू है। एकनाथ शिंदे जहां शिवसेना पर पूरी तरह से कब्जा करने की तैयारियों में जुटे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) भी हर संभव कोशिश कर रहे हैं कि शिवसेना (Shivsena) को बचाया जा सके। इस विवाद में अब केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Central Minister Ramdas Athavale) भी कूद चुके हैं। उन्होंने शिवसेना के मौजूदा हालात और पार्टी के भविष्य को लेकर भी टिप्पणी की है। आठवले ने कहा कि जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हैं वही असली शिवसेना है। उन्होंने यह भी कहा कि उद्धव ठाकरे पार्टी को बचा पाएंगे इसकी भी संभावना कम ही नजर आती है।


उद्धव ठाकरे के साथ संख्याबल कम

रामदास अठावले ने कहा कि एकनाथ शिंदे गुट ने खुद के अस्तित्व का निर्माण किया है। ऐसा नहीं है कि उनके पास पर्याप्त संख्याबल है। जिनके पास बहुमत है वही असली पार्टी है। उन्होंने कहा कि भविष्य में शिवसेना का नेतृत्व भी एकनाथ शिंदे करेंगे क्योंकि उद्धव ठाकरे के पास समर्थकों का संख्या बल काफी कम है। इसके अलावा ठाकरे दोबारा पार्टी में जान फूंक पाएंगे इसकी भी संभावना कम नजर आती है।


एकनाथ शिंदे के साथ मोदी

रामदास अठावले ने कहा कि सत्ता परिवर्तन होने के बाद प्रदेश को एक मजबूत सरकार मिली है। जिसकी वजह से अब विकास के कार्य को भी गति मिलेगी और आम जनता को सुविधाओं के साथ न्याय भी मिलेगा। अठावले ने कहा कि केंद्र और राज्य में एक ही दल की सरकार रहने से विकास कामों के अलावा जनता का भी जनता की उम्मीद भी पूरी होती है। इसके अलावा अब एकनाथ शिंदे के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। इसलिए अब किसी भी काम में अड़चन आने की संभावना नहीं है।


उद्धव ठाकरे का इंटरव्यू

उद्धव ठाकरे ने विरोधियों पर हमला बोलते हुए कहा कि जब उनकी तबीयत खराब थी तो बड़ी संख्या में लोग उनके ठीक होने की प्रार्थना कर रहे थे। वहीं कुछ ऐसे भी लोग थे जो इसके उलट साजिशें रचने में जुटे हुए थे। उन्होंने अपने इंटरव्यू में कहा कि विरोधी शिवसेना और ठाकरे परिवार को अलग करना चाहते हैं। उन लोगों ने शिवसेना प्रमुख के पद पर भी अपनी गिद्ध दृष्टि डाली हुई है।


बागी बालासाहेब की जगह लेना चाहते हैं, वह खुद की तुलना उनके साथ कर रहे हैं। उद्धव ने कहा कि हिंदुत्व को लेकर हमारे मन में जरा भी शंका नहीं है। हमारे घर पर पर हिंदुत्व का आशीर्वाद है। बीजेपी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि वो(बीजेपी) नीतीश कुमार के साथ बैठे हैं क्या वह हिंदुत्ववादी हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.