Tuesday, 12 July 2022

South Actresses: बॉलीवुड में बढ़ी इस हीरोइन की डिमांड, ब्रांड भी लगे लाइन में, लंबी छलांग की तैयारी

South Actresses: तेलुगु फिल्मों की एक्ट्रेस पूजा हेगड़े की अचानक बॉलीवुड में डिमांड बढ़ गई है. साउथ की फिल्मों के हिंदी दर्शकों में बढ़े क्रेज के बीच पूजा निर्माता-निर्देशकों की फेवरेट हो गई हैं और उनके पास फिल्मों के ऑफर बढ़ते जा रहे हैं. 2016 में ऋतिक रोशन के साथ फिल्म मोहनजो दारो से बॉलीवुड में कदम रखने वाली पूजा यूं तो मुंबई में पली-बढ़ी हैं, लेकिन उन्होंने करियर तेलुगु फिल्मों में बनाया. उनका परिवार मुंबई में रहता है और वह अक्सर यहां आती-जाती हैं. पूजा ने शुरू से इस बात पर जोर दिया कि उन्हें बड़े स्टार्स और बड़े बैनर की फिल्में करनी हैं. इसलिए वह बॉलीवुड में फिल्में साइन करने के लिए नहीं भागीं.

बॉलीवुड और साउथ में बैलेंस

इधर साउथ की फिल्मों के पैन-इंडिया होने का फायदा उन्हें मिल रहा है और बॉलीवुड के बड़े मेकर उनके पीछे हैं. यह अलग बात है कि इस साल बाहुबली स्टार प्रभास के साथ रिलीज हुई उनकी फिल्म राधे श्याम बुरी तरह फ्लॉप हुई, मगर वह इस क्रिसमस पर रिलीज होने वाली निर्देशक रोहित शेट्टी की फिल्म सर्कस में रणवीर सिंह के अपोजिट दिखेंगी. फिल्म में रणवीर का डबल रोल है. इसके बाद पूजा सलमान खान की कभी ईद कभी दीवाली भी साइन कर चुकी हैं. इन दो बड़े बजट की फिल्मों के अलावा में साउथ में भी पूजा के पास मेगा-बजट फिल्में हैं. वह महेश बाबू के अपोजिट एसएसएमबी 28 और विजय देवेरकोंडा के साथ जन गण मन में काम कर रही हैं. सर्कस के अलावा बाकी तीनों फिल्में 2023 में रिलीज होंगी.

ब्रांड्स का ध्यान भी पूजा पर

साउथ की वीरम की रीमेक सलमान स्टारर कभी ईद कभी दीवाली के दो शेड्यूल शूट हो चुके हैं. जबकि पूजा इस फिल्म के साथ महेश बाबू की फिल्म भी शूट कर रही हैं. इंडस्ट्री में चर्चा यह भी है कि पूजा ने बॉलीवुड में काम करने के लिए अपनी फीस बढ़ाई है और कभी ईद कभी दीवाली के लिए उन्हें साउथ के मुकाबले चार गुना फीस दी गई है. इस बीच बड़े सितारों के साथ काम करने का दूसरा फायदा भी पूजा का मिल रहा है. विज्ञापन कंपनियों की नजर भी उन पर है और दो बड़े ब्रांड्स ने उन्हें अपने प्रोडक्ट्स के प्रमोशन के लिए साइन किया है. जुलाई और अगस्त में इन विज्ञापनों की शूटिंग पूजा थाईलैंड में करेंगी.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.