Monday, 25 July 2022

Mumbai : ट्रांसजेंडर बनकर आए ठगों ने नवजात की मां से ले ली सोने की चेन, धोखा देने की तरकीब जानकर रह जाएंगे हैरान

Mumbai : ट्रांसजेंडर का रूप बनाकर एक नवजात बच्चे की मां से 50,000 रुपये की सोने की चेन को धोखे से लेने के आरोप में तीन लोगों के एक गिरोह को ने पुलिस रविवार को गिरफ्तार किया. धोखेबाजों ने महिला को यह बताकर डर पैदा कर दिया कि उसका दो दिन का बेटा बुरी आत्माओं और दुर्भाग्य के साथ पैदा हुआ है. धोखेबाजों ने अपशगुन से छुटकारा पाने के लिए महिला की सोने की चेन को आशीर्वाद देने का नाटक किया और उसे सलाह दी कि वह सात दिनों तक चेन को तकिए के नीचे रखे. एक हफ्ते के बाद जब शिकायतकर्ता ने रूमाल खोला तो उसे हल्दी पाउडर मिला, जिसका इस्तेमाल धोखेबाजों ने सोने को आशीर्वाद देने के लिए किया था.


नवजात की मां के साथ ऐसे की ठगी


एमआईडीसी पुलिस के मुताबिक, छह जुलाई को एमआईडीसी के गुप्ता चॉल निवासी अलका प्रजापति (28) नाम की पीड़िता ने एक बेटे को जन्म दिया था. प्रसूति गृह से जब वह अपने नवजात को लेकर अपने आवास पर पहुंची तो तीनों आरोपी भानुदास सावंत (29), महेंद्र नागनाथ (38) और प्रकाश शिंदे (24) साड़ी पहने उसके घर पहुंचे. ठगों ने प्रजापति को बताया कि उसके बेटे के पास बुरी आत्माएं और दुर्भाग्य है. आरोपी ने प्रजापति से कहा कि वे उसके गले में सोने की चेन और लटकन को आशीर्वाद देंगे और उसे रूमाल में बांध देंगे. फिर उन्होंने उसे तकिए के नीचे रूमाल रखने और सात दिनों के बाद इसे खोलने का निर्देश दिया. 13 जुलाई को जब प्रजापति ने रूमाल खोला तो चेन गायब मिली.


मुखबिरों के जरिए पुलिस ने तीनों को किया गिरफ्तार


एमआईडीसी पुलिस थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सतीश गायकवाड़ ने कहा, फिर उसने पुलिस से संपर्क किया और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया. इलाके में कहीं भी तीनों का कोई सीसीटीवी फुटेज नहीं था. सूत्रों और मुखबिरों के जरिए पुलिस को पता चला कि तीनों बुलढाणा में रुके थे. रविवार को पुलिस तीनों युवकों को गिरफ्तार कर मुंबई ले गई. गायकवाड़ ने कहा, "अब हम यह पता लगा रहे हैं कि क्या प्रसूति गृह वह जगह है जहां से तीन लोगों को प्रजापति का पता मिला और पता चला कि दो दिन पहले उनका एक बेटा हुआ था. पुलिस यह भी पता लगा रही है कि क्या तीनों ने समान तौर-तरीकों का इस्तेमाल कर अन्य नई माताओं को धोखा दिया है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.