Saturday, 23 July 2022

Mumbai : बिजनेसमैन को ऑनलाइन शराब का ऑर्डर देना पड़ा भारी, लगा 3 लाख रुपये का चूना, जानें मामला

Mumbai : ऑनलाइन सामान मांगना जितना आसान होता है, उतना ही रिस्की भी। ऑनलाइन सामान मांगने के चक्कर पर बहुत बार उपभोक्ताओं को ठगी और फर्जीवाडे़ जैसी घटनाओं का शिकार होना पड़ जाता है। ऐसा ही कुछ मुंबई के एक बिजनेसमैन के साथ हुआ है। एक बिजनेसमैन को ऑनलाइन शराब ऑर्डर करना भारी पड़ गया है, जिसके चलते उसे 2.8 लाख रुपये का नुकसान हो गया है।


मामला मुंबई के कांदिवली इलाके का है। ऑनलाइन ठगी करने वाले जालसाज ने पहले बिजनेसमैन को अपना कार्ड नंबर, सीवीवी और वन-टाइम पासवर्ड देने ते लिए मना लिया। इसके बाद उसने सिर्फ एक बार नहीं, बल्कि तीन अलग-अलग कार्डों के नंबर भी उससे मांग लिए और उसको लाखों का चूना लगा दिया।  


गूगल पर ढूंढा था वाइन शॉप का फोन नंबर

ठगी का पता चलने के बाद बिजनेसमैन ने ठग के खिलाफ कांदिवली पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है। बिजनसमैन एक ऑटोमोबाइल लोन एजेंसी चलाता है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित बिजनसमैन ने 18 जुलाई को रात करीब 8 बजे गूगल पर एक वाइन शॉप का कॉन्टेक्ट निकाला, जहां उसे बीके वाइन नाम की शॉप मिली। बिजनसमैन को गूगल पर एक नंबर मिला और उसने उस पर कॉल किया। ऑर्डर देने के बाद वाइन शॉप वाले ने उसे 2,900 रुपये का भुगतान करने के लिए कहा।  


जालसाज ने डेबिट कार्ड नंबर और सीवीवी मांगा

बिजनेसमैन से कहा गया कि भुगतान ऑनलाइन ही करना होगा। इसके बाद उसने अपना डेबिट कार्ड नंबर, सीवीवी और बाद में एक ओटीपी मांगा जिसे बिजनसमैन ने शेयर कर दिया, लेकिन जालसाज ने उससे कहा कि भुगतान प्राप्त नहीं हुआ था। उसने इस बार बिजनेसमैन से उसका क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने के लिए कहा और उसका नंबर, सीवीवी, ओटीपी मांगा। बिजनेसमैन ने इसे भी शेयर कर दिया।


बैंक की तरफ से बिजनेसमैन को मिले कई मैसेज

तीसरी बार, बिजनेसमैन ने दूसरे क्रेडिट कार्ड की डिटेल शेयर कर दी। इसके बाद उसे बैंक की तरफ से एक टेक्स्ट मैसेज मिला, जिसमें लिखा था कि उसके खाते से 81,200 रुपये डेबिट हो गए हैं। बिजनसमैन ने आरोपी से पूछा कि ऐसा कैसे हो सकता है जबकि शराब की कीमत सिर्फ 2900 रुपये थी। थोड़ी देर बाद बिजनेसमैन को बैंक की तरफ से अन्य कार्डों से अलग-अलग रुपये डेबिट होने के मैसेज आए। कुल मिलाकर, उसे 2.79 लाख रुपये का नुकसान हुआ और उसे महसूस हो गया कि जिस व्यक्ति से वह बात कर रहा था वह ठग है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.