Saturday, 16 July 2022

Maharashtra: ‘महाराष्ट्र की राजनीति में एक दूजे के लिए सिनेमा शुरू’, संजय राउत ने फिर शिंदे-फडणवीस सरकार पर बोला जोरदार हमला

शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर हो रही देरी पर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (CM Eknath Shinde) और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पर जोरदार हमले किए हैं. राउत ने कहा है कि महाराष्ट्र की राजनीति में ‘एक दूजे के लिए’ सिनेमा शुरू है. लेकिन एक दूजे के लिए फिल्म का अंत क्या हुआ था, सभी को मालूम है. इनका भी राजनीतिक अंत ऐसा ही होगा. शिंदे गुट में गए सभी विधायकों ने राजनीतिक आत्महत्या की है. राउत ने शिवसेना छोड़ कर शिंदे गुट में शामिल हुए विधायकों पर भी हमला करते हुए कहा कि जो शिवसेना छोड़ कर चले गए, उन्हें शिवसेना (Shiv Sena) का नाम लेने का कोई हक नहीं है. उन्हें बालासाहेब ठाकरे के नाम का सहारा लेने का कोई हक नहीं. वे अपना अस्तित्व खुद बनाएं. अपने दम पर अपनी राजनीति को आगे बढ़ाएं. असली शिवसेना बालासाहेब ठाकरे वाली शिवसेना है जिसका नेतृत्व उद्धव ठाकरे कर रहे हैं.


इस बीच शिंदे गुट में शामिल हुए विधायक विजय शिवतारे ने संजय राउत द्वारा शिंदे गुट के विधायकों पर लगातार हमले किए जाने की वजह से राउत को सीज्रोफेनिया का शिकार बताया है. विजय शिवतारे को शिंदे गुट में शामिल होने के बाद उद्धव ठाकरे के आदेश से पार्टी से निकाल दिया गया है. उन्होंने इस फैसले की खिल्ली उड़ाते हुए कहा कि वे पहले ही बालासाहेब ठाकरे के रास्ते से हट चुकी और हिंदुत्व छोड़ कर महाविकास आघाड़ी के साथ मिल कर सरकार चलाने वाली नकली शिवसेना छोड़ कर शिंदे गुट की असली शिवसेना के साथ आ चुके हैं. उन्हें पार्टी से निकालने वाला कोई होता कौन है? विजय शिवतारे ने कहा कि मेडिकल टर्म में एक बीमारी होती है जिसे सीज्रोफेनिया कहते हैं, संजय राउत उसी के शिकार हैं. उनके बड़बड़ाने से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता.


‘संसदीय लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा, जनता को धोखा दिया जा रहा’

मुंबई में पत्रकारों से बात करते हुए आज (16 जुलाई, शनिवार) संजय राउत ने संसद भवन के बाहर आंदोलन पर पाबंदी, असंसदीय शब्द, राज्य में सत्ता बदलने, शिंदे गुट के विधायकों और शिंदे-फडणवीस सरकार पर अपनी राय दी. उन्होंने कहा के संसद भवन के बाहर धरना-प्रदर्शन करने पर रोक संसदीय लोकतंत्र का गला घोंटने के समान है. कल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे के नेतृत्व में एक अहम बैठक है, उस बैठक में इससे निपटने की रणनीति पर चर्चा होगी.


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.