Saturday, 16 July 2022

Maharashtra: शिंदे-फडणवीस सरकार का अहम फैसला, औंरगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव करने के प्रस्ताव को दी मंजूरी

Maharashtra: महाराष्ट्र के शिंदे-फडणवीस सरकार की तीसरी कैबिनेट बैठक (Maharashtra Cabinet) खत्म हुई. आज (16 जून, शनिवार) इस केबिनेट बैठक में अहम फैसले किए गए. इस बैठक के बाद सीएम एकनाथ शिंदे (CM Eknath Shinde) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की और बैठक में लिए गए फेसलों की घोषणा की. सीएम शिंदे ने ऐलान किया कि औरंगाबाद शहर का नाम छत्रपति संभाजीनगर, उस्मानाबाद शहर का नाम धाराशिव किया जाएगा. इसके अलावा नवी मुंबई एयरपोर्ट का नाम लोकनेता दि.बा.पाटील इंटरनेशनल एयरपोर्ट रखा जाएगा. उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Dy CM Devendra Fadnavis) ने कहा कि नामांतरण और नामकरण का यह प्रस्ताव विधानसभा के आगामी मानसून सत्र में रखा जाएगा और प्रस्ताव के पास होने के बाद इसे केंद्र सरकार के पास स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा.


सीएम शिंदे ने कहा कि पिछली महा विकास आघाड़ी सरकार ने अल्पमत में आने के बाद ये फैसले लिए थे. लेकिन अल्पमत में होने की वजह से उनके पास ऐसे फैसले लेने का वैधानिक अधिकार नहीं था. आगे चलकर कोई विवाद नहीं हो इसलिए कानूनसम्मत तरीके से आज हमने इन फैसलों को सही तरह से अंजाम देने का निर्णय लिया है.


संजय राउत तो रोज सुबह उठ कर बड़बड़ करते रहते हैं- सीएम शिंदे

इसके अलावा सीएम एकनाथ शिंदे ने यह भी ऐलान किया कि मुंबई मेट्रोपोलिटन रीजन (MMR) क्षेत्र के विकास के लिए 60 हजार करोड़ की निधि मंजूर की गई है. सीएम शिंदे ने कहा कि कोई भी प्रोजेक्ट रुकेगा नहीं. बाढग्रस्त इलाकों के पंचनामे का काम पूरा हो गया है. राज्य में बाढ़गस्त इलाकों में नुकसान का सही तरह से जायजा लिया गया है. हर रोज बाढ़ से पैदा हुए संकट की जानकारियां हासिल की जा रही है. जल्दी ही जरूरी उपाय योजनाएं जमीन पर दिखाई देंगी.


विधानसभा में विपक्षी नेता अजित पवार और शिवसेना सांसद संजय राउत लगातार इस बात को लेकर आलोचनाएं कर रहे हैं कि राज्य में बाढ़ आई हुई है. मंत्रिमंडल के विस्तार में ऐसे वक्त में देरी करने से विकास के काम में देरी होगी. विकास के काम की कोई टाइमलाइन नहीं है. संजय राउत ने कहा कि यह सरकार ‘एक दूजे के लिए’ फिल्म की कहानी की तरह सरकार है. इस सरकार का अंत भी एक दूजे के लिए के अंत के समान होगा. इन सवालों के जवाब में सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा कि संजय राउत रोज सुबह उठ कर कुछ ना कुछ बोलते रहते हैं. अब मैं उनकी बातों का जवाब देता रहूं या काम करूं?


‘विरोधियों की लाइन डेड, इसलिए उनको हमारे कामों की डेडलाइन चाहिए’

उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने इस मुद्दे पर कहा कि उनकी (अजित पवार और संजय राउत) लाइन डेड हो गई है, इसलिए वे हमारे कामों की टाइमलाइन के बारे में बात कर रहे हैं. उनकी लाइन डेड है हमारा काम डेडलाइन पर पूरा होगा.


शिंदे-फडणवीस सरकार को लेना था नामांतरण का श्रेय- उद्धव कैंप का रिएक्शन

शिंदे-फडणवीस सरकार के फैसले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उद्धव ग्रुप के नेता चंद्रकांत खैरे ने कहा कि शिंदे-फडणवीस सरकार को नामांतरण का श्रेय लेना था, इसलिए फिर से कैबिनेट मीटिंग में इस मुद्दे फैसले लिए गए. वे चाहे कुछ करें, लेकिन नामांतरण का श्रेय बालासाहेब ठाकरे को जाएगा. अब उनकी नीयत सही है तो वे एक महीने में केंद्र की ओर से स्वीकृति लेकर दिखाएं.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.