Tuesday, 19 July 2022

Maharashtra: महाराष्ट्र में मूसलाधार बारिश से 28 जिले प्रभावित, वर्धा में बाढ़ ने बढ़ायी मुश्किलें

मुंबई: महाराष्ट्र के वर्धा जिले के कुछ इलाकों में बाढ़ से हालात गंभीर बने हुए हैं। इस क्षेत्र में बांधों के उफान के साथ लगातार बारिश हो रही है। मुंबई में क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने सोमवार को गढ़चिरौली और गोंदिया जिलों के लिए अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश के साथ गरज और बिजली गिरने की भविष्यवाणी करते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।


समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार राज्य सरकार ने सोमवार को कहा कि महाराष्ट्र कई जिलों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है, जहां भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं।  राज्‍य में 1 जून से अब तक मानसूनी बारिश के कारण हुई घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 105 हो गई है।


रत्‍नागिरी और गढ़चिरौली में भी बाढ़ जैसे हालात 


राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग ने एक रिपोर्ट में कहा कि हालांकि महाराष्ट्र के अधिकांश हिस्सों में मध्यम बारिश जारी है, रत्नागिरी, गढ़चिरौली और वर्धा जिलों में नदियों के उफान के कारण बाढ़ जैसी स्थिति देखी जा रही है।


बचाव अभियान जारी 


रविवार को एनडीआरएफ के जवानों ने गढ़चिरौली में बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य किया और लोगों के बीच विभिन्न आवश्यक वस्तुओं का वितरण किया।


शनिवार को महाराष्ट्र राज्य आपदा स्थिति रिपोर्ट सूचकांक की एक रिपोर्ट के अनुसार, 1 जून से महाराष्ट्र में हुई बारिश और बाढ़ से संबंधित घटनाओं में कुल 105 लोगों की जान चली गई। अब तक 189 जानवरों की भी मौत हो चुकी है जबकि 11,836 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है।


राज्‍य में भारी बारिश से 28 जिले प्रभावित


मूसलाधार बारिश के बीच शनिवार को दो मौतें दर्ज की गईं और कुल 68 लोग घायल हो गए। महाराष्ट्र के कई जिलों में लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है।


जिसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के कई जिलों में 13 एनडीआरएफ और तीन एसडीआरएफ टीमों को तैनात किया है। राज्‍य के पुणे, सतारा, सोलापुर, नासिक, जलगांव, अहम सहित राज्य में भारी बारिश से कम से कम 28 जिले प्रभावित हुए हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.