Monday, 11 July 2022

Maharashtra : उद्धव ठाकरे ने लिखा 15 विधायकों को भावुक पत्र, शिवसेना के प्रति निष्ठा दिखाने के लिए किया शुक्रिया

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में होने वाली सुनवाई के पहले अपने 15 विधायकों को एक भावुक पत्र लिखा है। उन्होंने उन तमाम विधायकों का शुक्रिया अदा किया है। जिन्होंने मुश्किल हालात में पार्टी के प्रति अपनी वफादारी और निष्ठा को बरकरार रखा। उद्धव ने अपने पत्र में लिखा है कि मुसीबत की घड़ी में पार्टी के प्रति निष्ठा और विश्वास दिखाने के लिए आप सभी का धन्यवाद। उन्होंने अपने विधायकों से यह भी अपील की है कि वह किसी भी धमकी या प्रलोभन के चक्कर में ना पड़े और एकनिष्ठ रहें। उन्होंने यह भी लिखा है कि शिवसेना (Shivsena) को इतनी ताकत देने के लिए धन्यवाद। मां जगदंबा आपको हमेशा स्वस्थ रखें। मेरी उनसे यही प्रार्थना है।


शिवसेना को फिर लग सकता है बड़ा झटका

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पार्टी के 40 विधायकों की बगावत के दर्द से अभी तक उबर भी नहीं पाए हैं। उनकी मुसीबत और भी बढ़ती हुई नजर आ रही है। अब पार्टी के सांसदों द्वारा एक बड़ी फूट की चेतावनी दी गई है। दरअसल महाराष्ट्र के वर्धा इलाके से शिवसेना के सांसद रामदास तडस में उद्धव ठाकरे की मुश्किलों को बढ़ाने वाला बयान दिया है। उनके मुताबिक आने वाले दिनों में शिवसेना के 12 सांसद भी मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे अपना समर्थन दे सकते हैं। यह सभी सांसद उनके गुट में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व की रक्षा के लिए हम ऐसा कदम उठाएंगे। साथ ही पीएम मोदी के नेतृत्व में होने वाले विकास के लिए हम एकनाथ शिंदे को अपना समर्थन देंगे।


शिंदे गुट के 16 विधायकों को बड़ी राहत

महाराष्ट्र में शिवसेना के संकट पर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा आदेश दिया है। मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में तुरंत बेंच का गठन नहीं किया जा सकता है। साथ ही पार्टी के बागी 16 विधायकों के निलंबन पर अभी डेप्युटी स्पीकर के फैसला लेने पर रोक लगा दी गई है। फ़िलहाल बागियों के मामले में आज सुनवाई नहीं होगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यह समय लेने वाला मामला है। तुरंत बेंच का गठन नहीं हो सकता है। विधायकों के खिलाफ अभी कोई कार्रवाई ना हो। बागी विधायकों के मामले में सीजेआई ने सुनवाई करते हुए यह टिप्पणी की है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.