Saturday, 16 July 2022

मुंबई क्राइम ब्रांच की सबसे बड़ी कार्रवाई, ड्रग्स रैकेट का भंडाफोड़, करोड़ों के ड्रग्स जब्त

Mumbai : महाराष्ट्र में एक बड़े अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। नवी मुंबई के क्राइम ब्रांच की टीम ने इस बड़े रैकेट के नेटवर्क का पर्दाफाश किया है। नवी मुंबई क्राइम ब्रांच ने करोड़ों रुपए के ड्रग्स को जब्त किया है। मिली जानकारी के मुताबिक अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में इस हेरोइन की कीमत 362.5 करोड़ आंकी गई है। बता दें कि अभी एक दिन पहले नवी मुंबई पुलिस ने ड्रग्स की एक बड़ी खेप को पकड़ने में कामयाबी हासिल की गई थी। ये खेप नवी मुंबई के पनवेल इलाके के अजिवली के नवकार लॉजिस्टिक्स के कंटेनर से बरामद हुई थी।


लगातार दूसरे दिन नवी मुंबई की क्राइम ब्रांच की टीम को ड्रग्स की बड़ी खेप पकड़ने में सफलता हासिल हुई है। ड्रग्स की खेप को लेकर यह कंटेनर दुबई से नवी मुंबई के न्हावाशेवा पोर्ट पर लाया गया था। बता दें कि क्राइम ब्रांच को इस बात की गुप्त जानकारी पहले ही मिल गई थी। पकड़ा गया यह कंटेनर नवकार लॉजिस्टिक्स के पनवेल के पास आजिवली गांव का है। मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम ने यह खुलासा किया है कि जो ड्रग्स की खेप बरामद हुई है वो एक इंटरनेशनल ड्रग्स रैकेट के नेटवर्क के सप्लाई चेन का एक हिस्सा है। बताया जा रहा है कि इस पूरे रैकेट के नेटवर्क से ना सिर्फ देश के कई इलाकों में लोग जुड़े हैं बल्कि यह रैकेट दुनिया के कई देशों में भी फैला हुआ है।


ऐसे पकड़ मे आई ड्रग्स की बड़ी खेप

मिली जानकारी के अनुसार मार्बल के नाम पर ड्रग्स लाने की टिप मिलते ही क्राइम ब्रांच हरकत में आ गई। पहले मार्बल्स को कंटेनर से नीचे उतारा गया। फिर कंटेनर के दरवाजे के फ्रेम पर बारीकी से देखने पर फ्रेम में ड्रग्स छुपाए जाने की शंका हुई। इसके बाद कटर मशीन की सहायता से कंटेनर के दरवाजे के फ्रेम को काटा गया।  इसके बाद ड्रग्स की एक बड़ी खेप बरामद की गई।


प्लास्टिक और कागज से पैक था ड्रग्स

जानकारी के लिए बता दें कि कंटेनर के इस फ्रेम के अंदर 72.518 किलो ड्रग्स की खेप बरामद हुई है। इसकी इंटरनेशनल मार्केट में कीमत 362.5 करोड़ रुपए आंकी गई है। इन्हें प्लास्टिक और कागज से पूरी तरह पैक किया गया था। ड्रग्स के ऐसे 168 पैकेट जब्त किए गए है। इसे नवी मुंबई क्राइम ब्रांच की बड़ी कार्रवाई माना जा रहा है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.