Friday, 22 July 2022

शिंदे सरकार ने त्योहारों पर लगाए गए प्रतिबंध हटाए, गणेशोत्सव, दही हांडी व मुहर्रम पर कोई रोक नहीं

मुंबई : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने गुरूवार को घोषणा की कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान त्योहारों पर लगाए गए प्रतिबंध हटा दिए गए हैं। आगामी गणेश चतुर्थी, दही हांडी और अन्य धार्मिक आयोजनों पर कोई रोक नहीं है। उन्होंने कहा कि जब जुलूस निकाला जाएगा तो मुहर्रम मनाने पर भी कोई प्रतिबंध नहीं होगा।


31 अगस्त से शुरू होगा गणेशोत्सव

पत्रकारों से बात करते हुए एकनाथ शिंदे ने कहा कि महामारी के दौरान शुरू किए गए धार्मिक त्योहारों पर लगे सभी प्रतिबंध हटा दिए गए हैं। लोगों को ऐसे त्योहारों का सकारात्मक रवैये के साथ स्वागत करने में सक्षम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंडालों और अन्य चीजों के लिए अनुमति प्राप्त करने में राज्य भर के गणेश मंडलों की सुविधा के लिए सिंगल-विंडो सिस्टम स्थापित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए कोई पंजीकरण शुल्क नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पीओपी से बनी गणेश मूर्तियों का समाधान खोजने के लिए एक समिति का गठन किया गया है। यह कुछ पर्यावरण के अनुकूल समाधान लेकर आएगी। 10 दिवसीय गणेश उत्सव इस साल 31 अगस्त से शुरू होगा।


कोरोना महामारी के दौरान लगे थे प्रतिबंध

गौरतलब है कि मार्च, 2020 में महामारी फैलने के बाद महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार, जो उस समय उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में थी, ने त्योहारों पर कई प्रतिबंध लगाए थे, जिसमें गणेशोत्सव के दौरान जुलूसों पर प्रतिबंध भी शामिल था। सार्वजनिक (सामुदायिक) मंडलों द्वारा स्थापित भगवान गणेश की मूर्तियों की ऊंचाई के साथ-साथ घरेलू स्तर पर भी प्रतिबंध थे। संक्रमण की व्यापकता के कारण पिछले दो वर्षों में गणेश उत्सव और अन्य धार्मिक आयोजन फीके रहे।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.