Monday, 25 July 2022

मुंबई पुलिस ने मोबाइल चोरों के बड़े गिरोह का किया भंडाफोड़, नेपाल और बांग्लादेश में बेचते थे फोन

Mumbai : मुंबई पुलिस ने मोबाइल फोन चोरी करने और ‘हवाला’ के जरिए उन्हें नेपाल तथा बांग्लादेश में बेचने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. एक अधिकारी ने बताया कि यह अपराध कितने बड़े पैमाने पर हो रहा था, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 15 जुलाई को यहां मानखुर्द इलाके में महाराष्ट्र नगर में एक स्थान पर छापे के दौरान आइफोन समेत 480 मोबाइल फोन बरामद किए गए.



अन्य देशों से भी थे गिरोह के संबंध

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि गिरोह के संबंध अन्य देशों से भी थे. छापे के दौरान मोबाइल फोन के अलावा पुलिस ने 9.5 किलोग्राम गांजा, विदेशी शराब की 174 बोतलें, दो तलवारें और एक लैपटॉप भी बरामद किया है. इन सभी की कीमत करीब 75 लाख रुपये है. मुंबई अपराध शाखा ने बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेश के जहांगीराबाद कस्बे से आरोपी आसिफ इदरीसी (25) को गिरफ्तार किया.



फोन के आईएमईआई नंबर बदल देते थे आरोपी

इससे पहले पुलिस ने गिरोह के दो अन्य सदस्यों महबूब उर्फ लल्लू बदरुद्दीन खान (37) और फैयाज शेख (31) को पकड़ा था. जांच के दौरान अपराध शाखा को पता चला कि गिरोह शहर में चोरों से मोबाइल फोन खरीद रहा था. अधिकारी ने बताया, ‘‘इसके बाद वे फोन के आईएमईआई नंबर बदल देते थे और उन्हें भारत, नेपाल और बांग्लादेश के विभिन्न हिस्सों में बेचते थे और हवाला के जरिए पैसे लेते थे.’’ हवाला का मतलब कानूनी बैंकिंग माध्यमों से बचते हुए पैसों का अवैध लेनदेन है.


‘चोर बाजार’ में लोगों से भी संपर्क थे गिरोह के सदस्य

अधिकारी ने बताया कि गिरोह के दक्षिण मुंबई में सबसे बड़े कबाड़ी बाजार ‘चोर बाजार’ में लोगों से भी संपर्क थे. उन्होंने कहा, ‘‘हमने महज एक छापे में 480 मोबाइल फोन जब्त किए. हम अंदाजा लगा सकते हैं कि उन्होंने नेपाल और बांग्लादेश में कितने फोन बेचे हैं.’’ उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश से इदरीसी के पकड़े जाने के बाद इस मामले में और गिरफ्तारियां हो सकती हैं.


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.