Monday, 25 July 2022

भारी बारिश,बाढ़ से प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए विधानसभा सत्र बुलाया जाए: अजीत पवार

मुंबई: महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता अजीत पवार ने भारी बारिश और बाढ़ से कृषि भूमि और फसलों को हुए नुकसान के मद्देनजर किसानों और नागरिकों को राहत प्रदान करने के लिए विधानसभा का सत्र बुलाने की सोमवार को मांग की गयी। उन्होंने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप-मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस दोनों को पत्र लिखा है और राज्य प्रशासन के ध्यान में राज्य में हुई क्षति की गंभीरता से अवगत कराया है। भारी वर्षा से प्रभावित विदर्भ, मराठवाड़ा और राज्य के अन्य हिस्सों को बाढ़ प्रभावित क्षेत्र घोषित किया जाना चाहिए। राज्य में 20 जून से आज तक लगातार बारिश हो रही है।


उन्होंने व्यक्तिगत रूप से राज्य के कुछ हिस्सों का निरीक्षण किया है और राज्य के सभी जिलाधिकारियों और मंडलायुक्तों के साथ टेलीफोन के माध्यम से लगातार संपर्क में हैं। उन्होंने कहा कि इस भारी बारिश से किसानों द्वारा लगाई गई फसलों को भारी नुकसान पहुंचा है। कहीं-कहीं बारिश से जमीन बह गई है और बड़े पैमाने पर मकान भी गिर गए हैं। अचल संपत्ति को भी बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है। लगातार बारिश के कारण पंचनामा का कार्य नहीं हो सका। पूर्व में भी इन दोनों संभागों में बड़ी संख्या में किसान आत्महत्या कर चुके हैं, जहां किसान संकट में हैं।


पवार ने कहा कि एक अगस्त, 2022 को या इस सप्ताह के दौरान सरकार के लिए सुविधाजनक तिथि पर सत्र बुलाया जाना चाहिए और लोगों की चर्चा के माध्यम से संकट में पड़े किसानों की मदद करना चाहिए। उन्होंने कहा कि विधानसभा के प्रतिनिधि और घाटे के मामले में सरकार की नीति की सही दिशा को समझते हैं।


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.