Monday, 25 July 2022

अमेठी में भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया विरोध प्रदर्शन:फूंका राहुल गांधी का पुतला, स्मृति ईरानी के खिलाफ दिए गए बयान से हैं नाराज

इंडियन नेशनल कांग्रेस के प्रवक्ता जयराम रमेश एवं पवन खेड़ा के केंद्रीय मंत्री व अमेठी सांसद स्मृति ईरानी की बेटी को लेकर दिए गए बयान से भाजपा समर्थकों में काफी नाराजगी है। कहीं बीजेपी नेता-कार्यकर्ता राहुल गांधी का पुतला फ़ूक रहें हैं। तो कहीं कांग्रेस नेता-कार्यकर्ता स्मृति ईरानी का पुतला दहन कर रहें हैं।


कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंघल के नेतृत्व में राहुल गांधी का पुतला फूंके जाने पर नाराज कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय गौरीगंज पर सांसद स्मृति ईरानी के खिलाफ स्मृति ईरानी मुर्दाबाद के जमकर नारेबाजी की। साथ ही स्मृति ईरानी का पुतला दहन किया।


फर्जी लाइसेंस पर परोसी जा रही थी शराब

जिले कि कांग्रेस नेताओं ने शनिवार को प्रेस वार्ता कर केंद्रीय मंत्री ईरानी की 18 साल की बेटी पर गोवा में बिना लाइसेंस से बार चलाने का आरोप लगाया था। कांग्रेस के मीडिया एवं प्रचार प्रमुख पवन खेड़ा ने कहा, ‘केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के परिवार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हैं। गोवा में उनकी बेटी द्वारा चलाए जा रहे रेस्टोरेंट पर शराब परोसने के लिए फर्जी लाइसेंस जारी करवाने का आरोप लगा है। यह कोई ‘सूत्रों के हवाले से’ अथवा एजेंसियों द्वारा राजनीतिक प्रतिशोध लेने के लिए लगाया गया आरोप नहीं है। बल्कि सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत प्राप्त जानकारी में खुलासा हुआ है।


आरटीआई के तहत शिकायत करने पर हुई जानकारी

उन्होंने दावा किया, ‘केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी ने अपने ‘सिली सोल्स कैफे एंड बार’ के लिए फर्जी दस्तावेज देकर ‘बार लाइसेंस’ जारी करवाए।’ कांग्रेस नेता के अनुसार, ’22 जून 2022 को लाइसेंस के नवीनीकरण के लिए जिस ‘एंथनी डीगामा’ के नाम से आवेदन किया गया। जबकि उनकी पिछले साल मई में ही मौत हो चुकी है। एंथनी के आधार कार्ड से पता चला है कि वे मुंबई के विले पार्ले के निवासी थे। आरटीआई के तहत सूचना मांगने वाले वकील को इनका मृत्यु प्रमाण-पत्र भी मिला है।’ खेड़ा ने दावा किया, ‘दस्तावेजों से यह भी पता चला है कि बार लाइसेंस के लिए आवश्यक रेस्तरां लाइसेंस के बिना ही बार लाइसेंस जारी किये गए।’ उन्होंने कहा, ‘हम प्रधानमंत्री से मांग करते हैं कि तत्काल प्रभाव से स्मृति ज़ूबिन ईरानी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया जाए।’

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.