Friday, 22 July 2022

बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में अंडरग्राउंड स्टेशन के निर्माण के लिए मंत्रालय ने खोला टेंडर, रेल मंत्री ने दी ये जानकारी

सरकार ने शुक्रवार को मुंबई में बुलेट ट्रेन की टनल और अंडरग्राउंड स्टेशन के निर्माण और डिजाइनिंग के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्विटर पर इसकी पुष्टि की और बोली की डिटेल्स को साझा किया. टेंडर नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन के तहत जारी किया जाएगा, जिसे साल 2016 में भारत में हाई स्पीड रेल कॉरिडोर के प्रबंधन के लिए बनाया गया था. रेल मंत्री द्वारा शेयर की गई डिटेल्स में कहा गया है कि इस काम में मुंबई अंडरग्राउंड स्टेशन के लिए डबल लाइन हाई स्पीड रेलवे के लिए सिविल और बिल्डिंग वर्क्स का निर्माण और डिजाइनिंग शामिल है.


इसके अलावा इसमें कट और कवर टनल और मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल से शैफ्ट-1 शामिल है. यह निर्माण बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स में किया जाएगा.


13 अक्टूबर से सब्मिट कर सकते हैं बोलियां

बोली की वैधता 180 दिनों की है. बोली को सब्मिट करने की शुरुआती तारीख 13 अक्टूबर सुबह 9 बजे है. जबकि, बोली सब्मिट करने की आखिरी तारीख 20 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे रखी गई है. बोली खुलने की तारीख 21 अक्टूबर दोपहर 3 बजे है.


बुलेट ट्रेन हाई-स्पीड रेल कॉरिडोर पर अहमदाबाद और मुंबई पर चलेगी. यह हाई स्पीड रेल कॉरिडोर पर 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी. इसमें 508 किलोमीटर और 12 स्टेशन कवर होंगे. इससे दोनों शहरों के बीच सफर का समय मौजूदा छह घंटों से घटकर करीब तीन घंटे हो जाएगा. प्रोजेक्ट की कुल कीमत 1.08 लाख रुपये है और शेयरहोल्डिंग पैटर्न के मुताबिक, केंद्र सरकार NHSRCL को 10 हजार करोड़ रुपये का भुगतान करेगी. गुजरात और महाराष्ट्र इस प्रोजेक्ट के लिए प्रत्येक पांच हजार करोड़ रुपये का भुगतान करेंगे. बाकी राशि जापान से 0.1 फीसदी की ब्याज पर लोन के तहत मिलेगी.


देवेंद्र फडण्वीस ने दिया था प्रोजेक्ट में तेजी लाने का भरोसा

महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडण्वीस ने बुधवार को मुंबई में जापान के काउंसिल जनरल Fukahori Yasukata को भरोसा दिलाया था कि इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेकेट्स जैसे बुलेट ट्रेन को फास्ट ट्रैक किया जाएगा. जापान इंटरनेशनल कॉरपोरेशन एजेंसी (JICA) द्वारा इस प्रोजेक्ट की फंडिंग की जा रही है.


आपको बता दें कि प्रदेश के उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने जानकारी दी है कि राज्य में मुंबई- अहमदाबाद बुलेट ट्रेन परियोजना को सभी मंजूरी मिल गई है. बुलेट ट्रेन मोदी सरकार की सबसे महत्वाकांक्षी योजनाओं में एक है. बीजेपी लगातार आरोप लगाती रही है कि एमवीए सरकार ने प्रोजेक्ट को धीमा कर दिया है. सरकार बदलने के साथ ही अनुमान लगाए जाने लगे थे कि बुलेट ट्रेन योजना रफ्तार पकड़ेगी.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.