Wednesday, 20 July 2022

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे को नहीं मिली राहत, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने 9 दिन की ED रिमांड पर भेजा

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) को-लोकेशन घोटाले के मामले में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे (Sanjay Pandey Arrest) को 9 दिनों के ED रिमांड पर भेजा है. ED ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में स्टॉक एक्सचेंज के कर्मचारियों की कथित अवैध फोन टैपिंग और जासूसी के मामले में संजय पांडे को गिरफ्तार किया था.


पूर्व पुलिस कमिश्नर संजय पांडे को (Former Mumbai Police Commissioner) इसके अलावा कई और मामलों में आरोपी बनाया गया है. 19 जुलाई को संजय पांडे से ED के अधिकारियों ने पूछताछ की थी. इसी पूछताछ के बाद संजय पांडे को गिरफ्तार कर लिया गया था. इससे पहले सोमवार 18 जुलाई को भी CBI ने संजय पांडे से पूछताछ की थी. CBI ने संजय पांडे से परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए 100 करोड़ की वसूली मामले में पूछताछ की थी, जबकि ED ने उनसे NSE कंपनी घोटाले के मामले में पूछताछ की.


पुलिस से इस्तीफा दिया, लेकिन स्वीकार नहीं किया गया

बता दें, संजय पांडे ने 2001 में पुलिस सेवा से इस्तीफा दे दिया था, लेकिन उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था. इसके बाद उन्होंने एक आईटी ऑडिट कंपनी शुरू की थी. इसके कुछ समय बाद उन्होंने फिर से पुलिस सेवा ज्वॉन की और अपने बेटे को कंपनी का डायरेक्टर बना दिया. 2010 से 2015 के बीच Isec Services Pvt Ltd नाम के फर्म को NSE के सर्वर और सिस्टम सिक्योरिटी से जुड़ा कॉन्ट्रैक्ट दिया गया. इसी मामले में मनी लॉन्ड्रिंग किए जाने के आरोप में ED उनसे पूछताछ कर रही है. ED उनसे यह पूछताछ PMLA कानून के तहत कर रही है.


एक साथ CBI और ED कर रही कार्रवाई

CBI 100 करोड़ की वसूली मामले में संजय पांडे के साथ ही परमबीर सिंह से भी पूछताछ कर रही है. परमबीर सिंह भी मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया था कि महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पुलिस अधिकारियों का इस्तेमाल मुंबई के रेस्टोरेंट और बार से 100 करोड़ रुपए की वसूली के लिए कर रहे हैं. परमबीर सिंह का यह भी आरोप है कि जांच में ढिलाई बरतने के लिए संजय पांडे ने दबाव डाला था.


30 जून को पुलिस सेवा से रिटायर हुए

संजय पांडे मुंबई पुलिस कमिश्नर का पदभार संभालने से पहले महाराष्ट्र राज्य सुरक्षा महामंडल के डायरेक्टर रहे. इसके बाद अप्रैल 2021 में उद्धव ठाकरे सरकार ने उन्हें महाराष्ट्र के DGP पद की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी, लेकिन IPS रजनीश सेठ को महाराष्ट्र का DGP बनाने के बाद उनसे ये जिम्मेदारी ले ली गई. इसके बाद वे मुंबई के पुलिस आयुक्त बने. 1986 बैच के IPS अधिकारी संजय पांडे मुंबई के 76वें पुलिस कमिश्नर रहे. IPS हेमंत नगराले से उन्होंने यह पदभार लिया था. 30 जून को वे पुलिस सेवा से रिटायर हुए और आज 19 जुलाई को गिरफ्तार कर लिए गए.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.