Friday, 22 July 2022

मुंबई पुलिस की हत्थे चढ़ा 'पॉर्न प्लानर', 550 महिलाओं और युवतियों का फोन कर चुका हैक ऐसे फंसता था जाल में

Mumbai : महिलाओं और लड़कियों को व्हाट्सएप के जरिए अश्लील वीडियो भेजने वाले अपराधी को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस इस शातिर अपराधी के पीछे काफी वक्त से थी। बीते कुछ वक्त से आरोपी नाबालिगों सहित 550 से ज्यादा महिलाओं को अश्लील वीडियो भेज रहा था। वह 10 सेलफोन और 12 अलग-अलग सिम का इस्तेमाल करके ब्लैकमेल कर रहा था। बुधवार को अंधेरी पुलिस इस शातिर को पकड़ने में कामयाब रही।


अंधेरी के एक पुलिस अधिकारी ने मामले की जानकारी देते हुए कहा है कि, उसने कई महिलाओं और नाबालिगों के व्हाट्सएप पर अश्लील वीडियो भेजने के लिए उनके फोन कॉन्टैक्ट लिस्ट चुरा लेता था। उसका इरादा उन्हें शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करना था। 


इस तरह पुलिस को मिली कामयाबी

आरोपी एक निजी बैंक के तकनीकी विभाग में संविदा कर्मचारी के तौर पर काम कर रहा था। वह विले पार्ले कॉलेज की एक 17 वर्षीय छात्रा और उसकी कॉन्टैक्ट लिस्ट से लगभग 35 साथी छात्रों को परेशान कर रहा था। आरोपी उन्हें ब्लैकमेल भी कर रहा था। पुलिस के मुताबिक वह महिलाओं और लड़कियों को मॉर्फ्ड वीडियो भेजता था और उन्हें अपने साथ समय बिताने के लिए कहता था। बुधवार को मिलने के लिए ब्लैकमेल करने वाली लड़की को उसने कॉल करके अपने घर पर बुलाया था। लड़की का फोन ट्रेस कर पुलिस उसको पकड़ने में कामयाब रही।


कॉलेज के प्रोफेसर के रूप में दिया था अपना परिचय

गौरतलब है कि, आरोपी के खिलाफ इस साल फरवरी में एक कॉलेज की छात्रा ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी। अपनी शिकायत में उसने कहा कि, आरोपी ने व्हाट्सएप पर उसके कॉलेज के प्रोफेसर के रूप में अपना परिचय दिया था। उसने दावा किया कि वह नोट्स और स्टडी मटेरियल शेयर करने के लिए छात्रों का एक ग्रुप बना रहा था और उससे उसके मोबाइल पर भेजे गए वन-टाइम पासवर्ड देने को कहा।


पोक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज

वरिष्ठ निरीक्षक संताजी घोरपडे और निरीक्षक शिवाजी पावड़े और राजकुमार हस्बे की एक टीम ने शिकायत के बाद डीसीपी (जोन एक्स) महेश्वर रेड्डी के नेतृत्व में तकनीकी जांच शुरू की। क्योंकि आरोपी तकनीकी रूप से काफी कुशल था और पुलिस को पांच महीने बाद ही उसको पकड़ने में सफलता हासिल हुई। पुलिस ने 10 फोन जब्त किए हैं, जिन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया। वहीं पुलिस ने आरोपी पर पोक्सो एक्ट के साथ-साथ पीछा करने और यौन उत्पीड़न के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा पुलिस यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि, क्या उससे संबंधित और एफआईआर दर्ज की गई हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.