Wednesday, 20 July 2022

मुंबई पुलिस ने 5 लोगों को किया गिरफ्तार, NSE ने मामले की जांच की तेज

बाजार के निवेशकों के हितों को देखते हुए ज़ी बिजनेस ने एक मुहिम की शुरुआत की. नाम था 'ऑपरेशन डीमैट डाका'. ये एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन शो था, जिसके जरिए ज़ी बिजनेस अपने दर्शकों/पाठकों को डीमैट के जरिए हो रहे फ्रॉड के बारे में बताया. अब इस ऑपरेशन को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है. ऑपरेशन डीमैट डाका का बड़ा असर देखने को मिला है. मुंबई पुलिस ने इस स्टिंग ऑपरेशन के तहत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. जिसमें 3 आरोपी मुंबई और 2 आरोपी अहमदाबाद से गिरफ्तार हुए. 


निजी कर्मचारियों के साथ आज ब्रोकर की बैठक

ज़ी बिजनेस की ओर से ऑपरेशन डीमैट डाका शो चलाया गया और इस शो के जरिए डीमैट के जरिए हो रहे अलग-अलग फ्रॉड्स के बारे में जानकारी दी गई. वहीं आज ब्रोकर के साथ निजी कर्मचारियों की बैठक है और एनएसई यानी कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ने इस मामले की जांच तेज की है. 


दरअसल तेजी से लोकप्रिय हो रहे शेयर बाजार में डकैतों के निशाने पर है आपका डीमैट अकाउंट. जहां बिना किसी खून-खराबा और हथियार का इस्तेमाल किए ये लूटेरे आपकी जीवन भर की कमाई साफ कर देते हैं...और टेक्नॉलॉजी के जमाने में सिर्फ एक बटन दबाकर आपके डीमैट खाते को हैक कर लेते हैं और पलक झपकते ही आपके पोर्टफोलियो के सारे शेयर बेचकर उसकी जगह आपके खाते को पेनी स्टॉक, छोटे शेयर या इलिक्विड स्टॉक से भर देते हैं.


ट्विटर पर जिरोधा ट्रेंड

बता दें कि ऑपरेशन डीमैट डाका में बताया गया कि कैसे आईटी प्रोफेशनल्स, वकीलों या दूसरे पेशेवर लोगों के साथ डीमैट के जरिए फ्रॉड किया जा रहा है. इसके बाद ट्विटर पर ऑनलाइन ब्रोकिंग फर्म जिरोधा को लेकर ट्रेंड होने लगा. ट्विटर पर लोगों ने जिरोधा से सफाई मांगी और कहा कि वो ज़ी बिजनेस पर जाकर सफाई दे.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.