Friday, 22 July 2022

शख्स के साथ फेसबुक पर हुआ ऐसा बड़ा धोखा, लुट गए 32 लाख रुपये, जानें- हैरान कर देने वाला मामला

 Mumbai: फेसबुक (Facebook) पर हनीट्रैप (Honey-Trao) में फंसने से मुंबई (Mumbai) के एक व्यक्ति को 24 लाख रुपये से अधिक का नुकसान हुआ. मध्य क्षेत्र की साइबर पुलिस ने हाल ही में झारखंड के 33 वर्षीय सैय्यद सैफ अहमद नाम के एक शख्स को कथित रूप से व्यक्ति को ठगने के आरोप में गिरफ्तार किया है. दिलचस्प बात यह है कि अहमद ने पुलिस के सामने कबूल किया है कि उसने 2021 में पीड़ित से उसने इसी तरह से लगभग 8 लाख रुपये की ठगी की थी. इसलिए कुल मिलाकर पीड़िता से उसके द्वारा लगभग 32 लाख रुपये की ठगी की गई.


अहमद को गुरुवार को मुंबई लाया गया था. पुलिस ने कहा कि उसने सना खान के नाम से एक फेसबुक अकाउंट बनाया, पीड़ित से दोस्ती की और उसे शादी के झूठे वादे पर धोखा दिया. 2021 में, सोफिया नामक एक और 'महिला' ने फेसबुक पर उससे दोस्ती करने के बाद पीड़िता को 7-8 लाख रुपये का नुकसान हुआ था. हालांकि स्थानीय थाने में शिकायत दर्ज कराने के बाद मामला वहीं रुक गया. तब पुलिस उसे ट्रैक नहीं कर पाई थी.


शादी के लिए परेशना था व्यक्ति


जनवरी में परेल की रहने वाले 31 वर्षीय पीड़ित व्यक्ति को सना खान की ओर से फेसबुक रिक्वेस्ट मिली थी. पुलिस ने कहा कि वह एक निजी फर्म में कार्यरत था और दुल्हन की तलाश में था, लेकिन उसे कोई दुल्हन नहीं मिली और वह परेशान था. अहमद ने मीठी-मीठी बातों से पीड़ित को बहला-फुसलाकर पैसे की मांग की, कभी शादी का झांसा देकर तो कभी मां की बीमारी के नाम पर, वही कभी सौंदर्य उत्पाद खरीदने के नाम पर. जब भी पीड़ित ने उसकी और तस्वीरें मांगी, तो 'सना' शरीर के अंगों की तस्वीरें भेजकर कहती थी कि "हम वैसे भी शादी कर रहे हैं, फिर आप मुझे देख पाएंगे". यह बात पीड़ित ने पुलिस को दिए अपने बयान में कही है.


पिता के खातों से भी पैसे निकाल ठग को किए ट्रांसफर


पीड़ित ने न केवल अपने बैंक खाते से बल्कि अपने पिता के खाते से भी लाखों रुपये निकाले. तीन महीनों में, उन्होंने 'सना' के कहने पर 24.67 लाख रुपये कई खातों में स्थानांतरित कर दिए. मार्च के आखिरी हफ्ते में जब उसके पिता बैंक गए तो पता चला कि उसके खाते से बिना उसकी जानकारी के लाखों रुपये ट्रांसफर हो गए हैं. उसने तुरंत साइबर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जिसने बैंक खातों को फ्रीज कर दिया. पुलिस को उसके बेटे पर शक था, लेकिन पीड़ित ने इससे इनकार किया. एक अधिकारी ने कहा कि लेकिन जब पुलिस ने उसे विश्वास में लिया तो उसने कबूल किया कि उसने पैसे ट्रांसफर कर दिए हैं. कॉल डेटा रिकॉर्ड और बैंक विवरण के माध्यम से जाने के बाद, केंद्रीय साइबर पुलिस ने अहमद पर ध्यान दिया, जिसे झारखंड के जमशेदपुर से उठाया गया था. गुरुवार को उसे अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया.


पीड़ित को अभी भी है ये भरोसा


बीकॉम ग्रेजुएट अहमद ने कथित तौर पर अपने दोस्त से धोखाधड़ी के बारे में सीखा और ज्यादातर पैसा ऑनलाइन सट्टेबाजी और रम्मी में खर्च किया. एक पुलिस अधिकारी ने कहा, "अजीब बात है कि पीड़ित अब भी सोचता है कि सना एक असली महिला है और जल्द ही उससे शादी करेगी." जांच के दौरान, आरोपी ने 2021 में पीड़िता को उसी तरीके से ठगने की बात कबूल की है. राजेश नागावड़े, वरिष्ठ निरीक्षक, मध्य क्षेत्र साइबर पुलिस स्टेशन ने कहा कि "उसने कहा कि उसने फेसबुक पर सोफिया के रूप में पीड़ित से दोस्ती की, लेकिन बाद में मामला दर्ज होने के बाद, उसने सना खान के नाम से एक अकाउंट बनाया और पीड़ित को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा."

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.