Thursday, 28 July 2022

31 अगस्त को धूमधाम से मनाई जाएगी गणेश चतुर्थी, जानिए- पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजन विधि



31 अगस्त को देश में गणेश चतुर्थी का त्योहार मनाया जाएगा. इस दौरान गणेश उत्सव की भी शुरुआत होगी. ये उत्सव खासतौर पर महाराष्ट्र में 10 दिनों तक मनाया जाता है. बता दें कि गणेश चतुर्थी हर साल भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी को मनाई जाती है. जो कि इस साल 31 अगस्त को होगी. इस दिन सभी बप्पा को अपने घर लाते हैं और फिर उनका विसर्जन अनंत चतुर्दशी के दिन किया जाता है. कहा जाता है कि गणेश चतुर्थी पर अगर आप बप्पा को घर लाते हैं तो आपके सभी कष्ट, विध्न और बाधाएं दूर हो जाती है. चलिए बताते हैं आपको गणेश चतुर्थी का शुभ मुहूर्त और कैसे करें इस दिन बप्पा की अराधना.

ये है गणेश चतुर्थी 2022 शुभ मुहूर्त –

भाद्रपद मास, शुक्ल पक्ष चतुर्थी 30 अगस्त को 3.33 AM से शुरू होकर 31 अगस्त 3.22 AM पर खत्म होगा.

वहीं पूजा का  शुभ मुहूर्त 11:05 AM से शुरू होकर 01:38 PM तक रहेगा.

पूजा का कुल समय 2 घंटे 33 मिनट का होगा.

ऐसे करें बप्पा की पूजा

गणेशजी को घर लाने से पहले आप स्नान कर घर को साफ कर लें. फिर गणेश जी की प्रतिमा को चौकी पर लाल कपड़ा बिछाकर उसपर स्थापित कर दें. फिर आप पूजा शुरू करें. पूजा में आप सबसे पहले गंगा जल से बप्पा का अभिषेक कर, उन्हें अक्षत, फूल, दूर्वा आदि अर्पित करें. फिर उन्हें उनका प्रिय भोग मोदक जरूर चढ़ाएं. उसके बाद धूप, दीप और अगरबत्ती जलाकर उनकी आरती करें. बता दें कि इस दिन चंद्रमा के दर्शन करना निषेध है.

क्यों मनाते हैं गणेश चतुर्थी ?

कहा जाता है कि, भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन ही कैलाश पर्वत से माता पार्वती के साथ गणेश जी का आगमन हुआ था. इसलिए इस दिन को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है. भगवान गणेश बुद्धि के दाता है. बता दें कि कई जगहों पर इस त्योहार को विनायक चतुर्थी और विनायक चविटी के नाम से भी जाना जाता है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.