Thursday, 21 July 2022

मुंबई में अब तक 11 लेप्टोस्पायरोसिस के मरीज, BJP विधायक ने बीएमसी को लिखा पत्र, कहा- जरूरी कदम उठाएं

Mumbai: बीजेपी के विधायक अमित साटम (Ameet Satam) ने BMC कमिश्नर इक़बाल चहल (Iqbal Chahal) को पत्र लिखकर मुंबई शहर में बारिश (Rain) के समय में होने वाली बीमारी के बारे में बताया और कहा की इसके लिए BMC ज़रूरी कदम उठाए. साटम ने दावा किया है की मुंबई में अब तक 11 लेप्टोस्पायरोसिस (Leptospirosis) और 33 डेंगू (Dengu) के मरीज मिल चुके हैं. साटम ने 20 जुलाई को बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल को लिखे एक पत्र में कहा कि जुलाई में 11 लेप्टोस्पायरोसिस और 33 डेंगू के मरीज पाए गए. 


12 जुलाई को लेप्टोस्पायरोसिस के पांच मरीज पंजीकृत किए गए थे. जून में लेप्टोस्पायरोसिस के 12 और डेंगू के 39 मरीज मिले थे. जुलाई में मलेरिया के 243 मरीज मिले थे. साटम ने मुंबई में बढ़ते इन बीमारियों को देखते हुए कहा है की मैं आपसे तत्काल प्रभाव से उन्हें रोकने और इससे प्रभावित लोगों इलाज करने का अनुरोध करता हूं. बीजेपी नेता साटम ने BMC को आगाह किया कि एक सप्ताह के भीतर स्वाइन फ्लू के मरीज की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. एक हफ्ते के समय में मरीज सिर्फ तीन से बढ़कर 11 हो गए. जनवरी और जुलाई के दौरान शहर में स्वाइन फ्लू के 15 मरीज थे.


संक्रमित होने की संभावना इस कारण अधिक हो जाती है

लेप्टोस्पायरोसिस एक जीवाणु रोग है जो संक्रमित जानवरों के मूत्र से फैलता है. ऐसे पानी के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों में लेप्टोस्पायरोसिस से संक्रमित होने की संभावना अधिक होती है. साटम ने मलेरिया, डेंगू, गैस्ट्रो, हेपेटाइटिस, चिकनगुनिया और H1N1 सहित संक्रामक रोगों के साथ जनवरी और जुलाई के बीच पाए गए रोगियों की संख्या को भी जोड़ा है.



पहली बार नहीं हो रहा

साटम ने कहा की मुंबई में हर साल इसी तरह भारी बारिश के बाद संक्रामक बीमारियों से लोग संक्रमित होते हैं. वहीं, जो लोग बारिश के समय यात्रा करते हैं जैसे की जलजामव वाले रास्तों से गुज़रते हैं ऐसे लोगों को लेप्टोस्पायरोसिस से संक्रमित होने की अधिक संभावना है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.