Saturday, 14 May 2022

Ulhasnagar :औरत की अस्मिता भंग करने वाला पहुंचा जेल, हाई कोर्ट ने नहीं दी अग्रिम जमानत





उल्हासनगर : उल्हासनगर 5 के हिल लाइन पुलिस स्टेशन में अपने बच्चे के साथ अकेले रहने वाली मां ने उल्हासनगर-3 में रहने वाले कैलाश सुखेजा नाम के शादीशुदा आदमी पर मामला दर्ज कराया है। पीड़िता ने बताया कि कैलाश सुखेजा ने उसे प्यार में धोखा दिया है और उसके अकेले का अश्लील फोटो बनाकर उसको सोशल मीडिया पर बदनाम करने की धमकी और उसको डराते हुए कहा कि किसी को बताया या फिर बुलाने पर दोबारा नहीं मिली, तो मारने की भी धमकी देता रहता था।

यह मामला पिछले कुछ दिनों पहले दर्ज़ किया गया था। आरोपी उस वक्त से फरार था। आरोपी बेल लेने पहले सेशन कोर्ट फिर हाई कोर्ट पहुंचा, तो वहां के सीटिंग जज श्रीमती अनुजा प्रभु देसाई जी ने बेल रिजेक्ट कर दिया और कोई चारा ना देखते हुए कैलाश ने हिल लाइन पुलिस स्टेशन में सरेंडर कर दिया, जहां से उसे कुछ दिन लॉकअप में रख कोर्ट के आदेश पर आधारवाड़ी जेल भेजा गया।

ज्ञात हो कि ये कैलाश वही हो जिस पर इस लड़की ने कुछ साल पहले भी 354 का मामला दाखिल करवाया था। उस वक्त कई समाजसेवी और एक धार्मिक गुरु के समझाने पर लड़की ने अपने बच्चे और अपने भविष्य को देखते हुए मामला वापस लेने की कोशिश की थी।

उस समय 4 दिन पुलिस रिमांड में रहने के बाद आरोपी जब बाहर आया, तो लड़की को फिर से तंग करने लगा। आरोपी ने पीड़िता के साथ गुजारे व्यक्तिगत पल के फोटो वायरल करने के डर से, तो कभी उसके बच्चे को नुकसान पहुंचाने के डर से हमेशा गाहे ब गाहे लड़की, जिसका एक टेलर का शॉप है, उस पर जाकर हंगामा करने लगा। लड़की कई साल से ये सब सहती गई। मगर कुछ समय बाद जब कैलाश सुखेजा की मस्ती और बढ़ गई और लड़की को बर्दाश्त करने की हद हो गई, तो उसने पुलिस स्टेशन जाकर F.I.R दर्ज करवाई। पुलिस ने कैलाश सुखेजा के खिलाफ अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर वायरल करने और अस्मिता को समाज में खराब करने के जुर्म में आईपीसी 354ए. 354डी. 506. और आईटी सेक्शन के तहत मामाला दर्ज़ कर लिया। फिलहाल आरोपी कैलाश सुखेजा जो खुद को एक जींस व्यापारी बताता है, उसको आधारवाड़ी जेल भेज दिया गया है।



Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.