Friday, 25 March 2022

Hindmata breaking: अधिकारी या खबरी...?

 


उल्हासनगर महानगरपालिका के टैक्स विभाग के अधिकारी कर रहे हैं आजकल बिल्डर्स, भूमाफियाओं और राजनेताओं की खबरी...कोई भी शिकायत मिलने पर पहले अपने आकाओं को भेज देते हैं और अंदर ही अंदर पूरे मामले को दबा देते हैं| ये सैलेरी तो उमनपा की खाते हैं जिनसे इनका घर चलता है, परंतु बाकी दारू, हाईफाई लाइफ का खर्चा इनका ये सब भूमाफिया टैक्स चोरों से निकलता है|

ज्ञात हो कि उल्हासनगर महानगरपालिका का हाऊस टैक्स विभाग हमेशा से लाखों-करोड़ों के घोटाले का साक्षी रहा है| अनगिनत आरोप इस विभाग पर और खास कर सुप्रीडेंट के साथ-साथ इंस्पेक्टर पर लगते आए हैं| कभी टैक्स ना लेना, कभी १००० स्क्वायर फीट को १०० स्क्वायर फीट दिखाकर अपनी जेबें गरम करना, साथ ही पुराने कई तरह के आरक्षित भूखंड पर नया पुराना सेटिंग करके टैक्स बनाकर देना, भूमाफिया के साथ-साथ झोल-झाल वाले बिल्डर्स को फायदा पहुंचाना, बिल्डिंग बनाकर तैयार हो जाने के बाद भी टैक्स नहीं लगाना, ऐसे कई तरह के काले कामों को अंजाम देते रहने का काम कई सालों से चालू है, परंतु आज के दिन में ये तो बहुत ही बड़े-बड़े काम करने लगे हैं| एक सुप्रीडेंट श्री जेठालाल करमचंदानी जिसका काम ही उमनपा टैक्स विभाग के किसी भी पेपर्स को बाहर बिल्डर्स को पहुंचाकर खबरी वाला काम बन गया है| यही नहीं, कई घोटाले टैक्स के खुलने के बाद कई तरह से लाखों रुपए बकाया होने के बाद भी कोर्ट में केस पेंडिंग रखे गए हैं| कई दर्जनों केसेस ऊपर जिनकी टैक्स पेंडिंग है उनसे करमचंदानी का गहरा रिश्ता बताया जाता है और वक्त भी वक्त ये जेठालाल उन टैक्स चोरों से अपना रिलेशन दिखाकर सूद नुमा काम करवाता रहता है| हाल ही में पिछले महीने अपने बेटे की शादी धूमधाम से ४,५,६,७ को शादी और उनकी रस्म में कम से कम ५० लाख का खर्चा किया गया| ये इतने पैसे इस अधिकारी के पास कहां से आया? ये एक जांच का विषय है| इसकी शिकायत कई समाजसेवी एसीबी से करने वाले हैं| और तो और ये जो भी शादी की रस्म निभाई गई वो उस आदमी के होटेल और मैरेज लॉन्स में निभाई गई जिसने ८ से १० साल तक लाखों रुपए बकाया रखकर उमनपा और कोर्ट को गुमराह किया हुआ है| लाखों रुपए शादी में खर्चा करना किसी बड़े शाहूकार उद्योगपति का जिगर नहीं ये लॉकडाउन के समय पर| जहां लोगों के खाने के लाले पड़े हुए हैं, वहीं जेठालाल मस्ती में झूमकर ४-४ प्रोग्राम रखकर वो भी टैक्स चोर के हॉल और होटेल में तो किसको चिढ़ा रहे हैं, उमनपा कमिश्‍नर को या उल्हासनगर की गरीब जनता को| जिनका ५० हजार टैक्स बकाया होने पर उसके घर को ये जेठालाल सील कर रहा है| ये जेठालाल ही नहीं इस विभाग के उद्धव लुल्ला, मनोज गोकलानी, अनिल पहुजा तो एक दिन कहो तो एक दिन में आपको चेंज ऑफ नेम करके देगा, बस आपको उनके हिसाब से जेब गरम करनी पड़ेगी| वहीं कई सालों से नाग के जैसे एक जगह कुंडली मारकर बैठ और टैक्स विभाग के हर एक घोटाले के सुख भोगने वाले सुखदेव भमभानी की भी करप्शन की लिस्ट बहुत बड़ी है| यही नहीं, एक-एक ने लाखों-करोड़ों की बेनामी संपत्ति बनाकर कल्याण, कर्जत, खोपोली, लोनावाला यहां तक कि गुजरात में भी कई जमीन, फ्लैट और फॉर्म हाऊस तक अपने रिश्तेदारों के नाम खरीद रखे हैं| जिनका खुलासा पेपर्स के साथ हिंदमाता जल्द आपके सामने लाएगा और ऐसे खबरी दलाल अधिकारियों का खुलासा करेगा|

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.