Friday, 10 December 2021

मेडिकल भर्ती परीक्षा पेपर लीक: अधिकारी गिरफ्तार, अबतक 12 आरोपियों पर कस चुका है शिकंजा



मुंबई। भर्ती परीक्षा से पहले स्वास्थ्य विभाग का प्रश्नपत्र लीक होने के तार सीधे अधिकारियों से जुड़े मिलें हैं। मामले में पुणे पुलिस की साइबर सेल ने स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ महेश बोटले को गिरफ्तार किया है। पुलिस को शक है कि बोटले ने ही यह पेपर लीक किया था। बोटले को पुणे पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार किया। इस मामले में अब तक कुल 12 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। शुरूआत में मामले में अकादमी चलाने वाले और एजेंट पकड़े गए थे लेकिन बाद में लातूर के स्वास्थ्य विभाग के मुख्य प्रबंधन अधिकारी प्रशांत बडगिरे, सार्वजनिक स्वास्थ्य विभाग के उपनिदेशक प्रकाश मिसल पर शिकंजा कसा। 

उसने पूछताछ में बोटले का नाम सामने आया। दरअसल प्रश्नपत्र तैयार करने के लिए जो समिति बनाई गई थी उसमें बोटले भी शामिल थे और प्रश्नपत्र लीक करने में उनकी भूमिका है। बता दें कि 31 अक्टूबर को स्वास्थ्य विभाग के तृतीय और चतुर्थ वर्ग के खाली पदों के लिए भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी लेकिन परीक्षा के कुछ मिनट पहले ही पेपर कई लोगों को ह्वाट्सएप पर मिल गए। इसके बाद भर्ती परीक्षा रद्द कर दी गई। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की अधिकारी स्मिता कारेगांवकर की शिकायत के आधार पर पुणे पुलिस की साइबर सेल ने मामले की छानबीन शुरू की और अब मामले के तार स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों तक पहुंच गए है। पुलिस की जांच में पता चला है कि बोटले ने पेपर अपने कम्प्यूटर से पेनड्राईव में लिया और वह पेनड्राईव एक वाहन से लातूर भेजा।     


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.