Saturday, 18 December 2021

भारत ने ओडिशा तट पर ‘अग्नि प्राइम’ मिसाइल का किया सफल परीक्षण, 1000-2000 किमी के बीच है मारक क्षमता

 

भारत ने ओडिशा तट पर 'अग्नि प्राइम' मिसाइल का किया सफल परीक्षण, 1000-2000 किमी के बीच है मारक क्षमता
अग्नि प्राइम मिसाइल

भारत ने शनिवार को ओडिशा के बालासोर तट पर ‘अग्नि प्राइम’ (Agni-P) मिसाइल का सफल परीक्षण किया. यह अग्नि सीरीज की मिसाइलों का एडवांस्ड वर्जन है, जो परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है. सतह से सतह पर मार करने वाली इस बैलिस्टिक मिसाइल की मारक क्षमता 1000 से 2000 किलोमीटर की है. इस मिसाइल को रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा डिजाइन और विकसित किया गया है.

अधिकारियों ने बताया कि टेस्ट के दौरान अग्नि प्राइम मिसाइल में कई नए फीचर्स जोड़े गए. यह उच्च स्तर की सटीकता के साथ मिशन के सभी लक्ष्यों को पूरा किया. अग्नि प्राइम अल्‍ट्रा मॉर्डन टेक्निक से लैस होने की वजह से बहुत कम वजन वाली मिसाइल है.

इसी सप्ताह भारत ने ओडिशा तट से दूर अब्दुल कलाम द्वीप से ‘सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड टॉरपीडो सिस्टम’ (SMAT) का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया था. डीआरडीओ ने बताया कि इस प्रणाली को पनडुब्बी रोधी युद्धक क्षमताओं को बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है, जो पारंपरिक टॉरपीडो की रेंज से कहीं अधिक है.

डीआरडीओ ने एक बयान में कहा था, ”यह परीक्षण योजना के अनुसार रहा. इस दौरान इलेक्ट्रो ऑप्टिक टेलीमेट्री सिस्टम, डाउन रेंज इंस्ट्रूमेंटेशन और डाउन रेंज शिप सहित विभिन्न रेंज रडार द्वारा पूरे प्रक्षेपवक्र की निगरानी की गई. मिसाइल में टारपीडो, पैराशूट डिलीवरी सिस्टम और रिलीज मेकैनिज्म था.”

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.