अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच के लिए वानखेडे को राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) से 6 महीने के लिए पर एनसीबी में लाया गया था। यूपीएससी में आमतौर पर दोबारा एक्सटेंशन विशेष मामले में ही मिलता है। वानखेडे की वर्तमान पोस्टिंग जोनल निदेशक के रूप में उनके वेतन ग्रेड से नीचे है।

मुंबई एयरपोर्ट पर हुई थी पहली नियुक्ति

महाराष्ट्र के रहने वाले समीर वानखेडे 2004 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। आईपीएस अधिकारी के रूप में उनकी पहली पोस्टिंग मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उप सीमा शुल्क आयुक्त के रूप में हुई थी। उनका प्रदर्शन देखकर उन्हें आंध्र प्रदेश और दिल्ली भी भेज दिया गया।

चुनौतीपूर्ण पदों पर रहे कार्यरत

समीर वानखेड़े को ड्रग संबंधी मामलों से निपटने में माहिर माना जाता है। पिछले दो साल में उनके नेतृत्व में करीब 17,000 करोड़ रुपए के ड्रग रैकेट का पर्दाफाश हुआ है। वह 2008 से 2021 तक एयर इंटेलिजेंस यूनिट (एआईयू) के उपायुक्त, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के अतिरिक्त एसपी, राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) के संयुक्त आयुक्त और अब एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समेत विभिन्न प्रमुख पदों पर कार्य किया।  

विश्व कप ट्रॉफी को भी रोका

साल 2013 में वानखेडे ने गायक मीका सिंह को मुंबई एयरपोर्ट पर विदेशी मुद्रा के साथ पकड़ा था। उन्होंने अनुराग कश्यप, विवेक ओबेरॉय और राम गोपाल वर्मा सहित कई बॉलीवुड हस्तियों की संपत्तियों पर छापा मारा है। साल 2011 में गोल्ड प्लेटेड क्रिकेट विश्व कप ट्रॉफी को भी सीमा शुल्क का भुगतान करने के बाद ही मुंबई हवाई अड्डे से बाहर जाने की अनुमति दी गई थी।

अभिनेत्री क्रांति रेडकरी के पति

वानखेडे एक मराठी अभिनेत्री क्रांति रेडकरी के पति हैं। उन्होंने 2017 में जानी-मानी अभिनेत्री क्रांति रेडकर के साथ शादी के बंधन में बंध गए। उनके जुड़वां बच्चे भी हैं। क्रांति रेडकर ‘कॉम्बाडी पल्ली’, जात्रा, माई हसबैंड, योर वाइफ, फुल थ्री धमाल जैसी कई फिल्मों में नजर आ चुकी हैं।