Tuesday, 12 October 2021

MAHARASHTRA: गहराता जा रहा है बिजली संकट, कोयले की भारी कमी से जूझ रहे पॉवर प्लांट



मुंबई। राज्य में बिजली संकट और गहरा होता जा रहा है। महाराष्ट्र स्टेट पॉवर जनरेशन कंपनी लिमिडेट (महाजेनको) के पास सिर्फ रविवार तक राज्य में 1 लाख 91 हजार 475 मीट्रिक टन ही कोयला बचा हुआ था जबकि नियमों के मुताबिक यह भंडार 29 लाख 70 हजार मीट्रिक टन होना चाहिए। कोयले से बिजली बनाने वाले पॉवर प्लांट 80 फीसदी क्षमता से चलाने के लिए रोजाना 1 लाख 49 हजार मीट्रिक टन कोयला लगता है। कोयला की उपलब्धता को लेकर ऊर्जा विभाग द्वारा सोमवार की जारी आंकड़ों के मुताबिक राज्य के सात पॉवर प्लांट में सिर्फ आधे से डेढ़ दिन की बिजली उत्पादन भर का कोयला बचा हुआ है जबकि केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के दिशानिर्देशों के मुताबिक पॉवर प्लांट में इतना कोयले का भंडार होना चाहिए कि वह निर्बाध रूप से 22 दिन चल सके। कोराडी के 2400 मेगावॉट क्षमता वाले पॉवर प्लांट में सबसे कम 20 हजार 364 मीट्रिक टन कोयला ही बचा है जिससे प्लांट 0.67 दिन ही चल सकता है जबकि चंद्रपुर के 2920 मेगावॉट बिजली उत्पादन की क्षमता वाले पावर प्लांट में 86 हजार 264 मीट्रिक टन कोयला बचा है जिससे यह प्लांट 1.64 दिन ही चल सकता है। 

मांग कम फिर भी परेशानी

राज्य में रुक रुक कर बारिश  होने के चलते गर्मी से राहत है जिसके चलते पिछले साल के मुकाबले बिजली की मांग में कमी है लेकिन बारिश के चलते कोयला खदानों में पानी भरने और कोयला गीला हो जाने के चलते ही बिजली की परेशानी भी बढ़ गई है। आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल 10 अक्टूबर को राज्य में बिजली की खपत 20505 मेगावॉट थी जबकि इस साल 10 अक्टूबर को 19000 मेगावॉट बिजली की ही खपत हुई। पिछले साल 9 अक्टूबर को 20635 के मुकाबले इस साल 9 अक्टूबर को 19632 मेगावॉट बिजली की खपत हुई।   

कहां कितना कोयला बचा   

प्लांट          उपलब्ध कोयला   कितने दिन का कोयला   क्षमता (मेगावॉट)

कोराडी           20364                0.67 दिन                   2400
परली              9675                 0.72 दिन                   750
पारस              6948                 0.77 दिन                   500
नाशिक            8236                1.18 दिन                   630
खापरखेडा       31258                 1.30 दिन                 1340
भुसावल         28730                 1.34 दिन                  1210
चंद्रपुर            86264                 1.64 दिन                  2920  

2020  बिजली की खपत

10 अक्टूबर को 20,505 मेगावॉट
9 अक्टूबर को 20,635 मेगावॉट
8 अक्टूबर को 20,318 मेगावॉट
7 अक्टूबर को 20,003 मेगावॉट 
6 अक्टूबर को 19,753 मेगावॉट  

2021 बिजली की खपत
10 अक्टूबर को 19,000 मेगावॉट 
9 अक्टूबर को 19,623 मेगावॉट
8 अक्टूबर को 10,902 मेगावॉट
7 अक्टूबर को 20,592 मेगावॉट
6 अक्टूबर को 20,196 मेगावॉट

केंद्र सरकार रोक रही कोयला आपूर्ति-पटोले

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार कोयले की आपूर्ति को रोककर महाराष्ट्र को अंधेरे में डालने का प्रयास कर रही है। उन्होंने दावा किया कि कोयले की कमी के कारण महाराष्ट्र में बिजली उत्पादन के 19 यूनिट बंद है। पटोले ने कहा कि केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह कह रहे हैं कि कोयले की कमी नहीं है तो महाराष्ट्र में थर्मल पॉवर परियोजना की यूनिट क्यों बंद है? भाजपा के लोगों को कोयले की खदान में जाकर कोयला उपलब्ध कराना चाहिए। पटोले ने कहा कि महाराष्ट्र, राजस्थान और दिल्ली को बारिश का कारण बताकर कोयले की आपूर्ति कम की जा रही है।


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: