Wednesday, 25 August 2021

Narayan Rane Bail: महाराष्ट्र में दिन भर चले ड्रामे का हुआ अंत, आधी रात को मिली नारायण राणे को जमानत

 


महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को अपशब्द कहने के मामले में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मंगलवार दोपहर गिरफ्तार कर लिया गया था. दिन भर चले इस सियासी ड्रामे का अंत आधी रात को हुआ. जब महाड कोर्ट ने राणे के लिए राहत की खबर सुनाई और उनकी जमानत याचिका मंजूर कर ली. 15 हजार के निजी मुचलके पर उन्हें जमानत दी गई. जमानत देते हुए महाड कोर्ट ने कुछ शर्तें भी रखीं. कोर्ट ने कहा कि इस बीच नारायण राणे का ऑडियो सैंपल लिया जाएगा. लेकिन वॉयस सैंपल लेना हो तो राणे को  7 दिनों पहले नोटिस दी जाएगी. यह शर्त भी रखी गई है नारायण राणे दो दिन (30 अगस्त और13 सितंबर) रायगढ़ अपराध शाखा में जाकर हाजिरी देनी होगी. राणे को यह चेतावनी देते हुए जमानत दी गई कि भविष्य में वे ऐसी गलती नहीं दोहराएंगे. इससे पहले 7 दिनों की पुलिस कस्टडी की मांग भी कोर्ट ने ठुकरा दी और राणे को राहत देते हुए जमानत मंजूर कर ली. जमानत मंजूर होने के बाद नारायण राणे महाड से अपने मुंबई के जुहू स्थित आवास के लिए निकल गए.

बता दें कि नारायण राणे को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस संगमेश्वर पुलिस स्टेशन से महाड के एमआईडीसी पुलिस स्टेशन में ले गई थी. इसके बाद देर रात उन्हेंं कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया. महाड के ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (Judicial Magistrate) के सामने रात 9 बज कर 50 मिनट में नारायण राणे की जमानत पर सुनवाई शुरू हुई और महाड कोर्ट ने रात 11.15 बजे नारायण राणे की जमानत मंजूर कर ली.

परसों से जनआशीर्वाद यात्रा फिर शुरु होगी, कोर्ट से हमें न्याय मिला

जमानत मंजूर होने के बाद विधान परिषद में विपक्षी नेता प्रवीण दरेकर ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कोर्ट का फैसला राज्य सरकार को करारा जवाब है. कोर्ट से इसी निर्णय की अपेक्षा थी. न्याय व्यवस्था पर हमारा विश्वास था. यह विश्वास हमारा सही साबित हुआ. दिन भर की थकान की वजह से हम एक दिन के लिए आराम करेंगे और परसों से हमारी जनआशीर्वाद यात्रा शुरू होगी.

सुनवाई के दौरान बहस में दोनों पक्षों के वकीलों ने क्या कहा?

इससे पहले बहस के दौरान सरकारी वकील ने  नारायण राणे के बयान को अत्यंत ही गंभीर बताया और   7 दिनों की पुलिस कस्टडी की मांग को दोहराया. सरकारी वकील ने कहा कि राणे के बयान में मुख्यमंत्री की छवि को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई. जबकि राणे के वकील का कहना था कि राणे के एक बयान के बाद कई नियमों और कानूनों का उल्लंघन किया गया. राणे को गिरफ्तार करने से पहले कोई नोटीस नहीं दी गई. इतना ही नहीं जिन धाराओं के तहत नारायण राणे को गिरफ्तार किया गया है. वह भी गलत है और राजनीतिक उद्देश्यों से प्रेरित है. राणे के वकील ने कहा कि राणे ने जो भी बयान दिया वो सार्वजनिक स्थान पर दिया और आम बोलचल में ऐसे वाक्य अक्सर कह दिए जाते हैं. ऐसे मामले में कस्टडी की क्या जरूरत है? राणे का स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर भी राणे के वकील ने जमानत मंजूर किए जाने की अपील की. कोर्ट ने राणे के वकील की दलीलों को मान लिया और नारायण राणे की जमानत मंजूर कर ली.

रत्नागिरि में गिरफ्तारी, महाड में छुटकारा

रत्नागिरि पुलिस द्वारा गिरफ्तारी किए जाने से पहले राणे ने रत्नागिरि कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दी. रत्नागिरि कोर्ट ने जमानत अर्जी ठुकरा दी. इसके बाद मुंबई उच्च न्यायालय ने भी तुरंत सुनवाई करने से इनकार कर दिया. इसके बाद रत्नागिरि में दोपहर सवा तीन बजे जब नारायण राणे अपने जन आशीर्वाद यात्रा के कार्यक्रम के दौरान खाना खा रहे थे तो रत्नागिरि पुलिस के डीसीपी उन्हें गिरफ्तार करने पहुंचे. नारायण राणे ने अपनी गिरफ्तारी से संबंधित नोटीस दिखाने को कहा. लेकिन बिना किसी नोटीस के पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर संगमेश्वर पुलिस स्टेशन ले आई. यहां से महाड पुलिस आकर उन्हें महाड के लिए रवाना हुई.

महाड के एमआईडीसी पुलिस स्टेशन में रात साढ़े आठ बजे राणे पहुंचे. यहां से महाड पुलिस ने 9 बज कर 50 मिनट में महाड कोर्ट में दंडाधिकारी के सामने राणे को पेश किया. इसके बाद नारायण राणे की जमानत अर्जी पर सुनवाई शुरू हुई. 11.15 बजे रात को नारायण राणे की जमानत याचिका महाड कोर्ट ने मंजूर कर ली.

भाजपा कार्यकर्ताओं ने मनाया जश्न

नारायण राणे को जमानत मिलने की खबर बाहर आते ही सिंधुदुर्ग के भाजपा समर्थकों ने पटाखे फोड़ कर जश्न मनाया. नारियल फोड़ कर जोश में नारे लगाए. कुडाल में भी राणे समर्थकों ने पटाखे फोड़ कर अपनी खुशियां जाहिर कीं. महाड कोर्ट परिसर में भी जो भाजपा कार्यकर्ता जुटे हुए थे उन्होंने मिठाइयां बांट कर खुशियां मनाई और संतोष व्यक्त किया.


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: