Monday, 23 August 2021

Dahi Handi: महाराष्ट्र में इस बार भी नहीं फूटेगी दही हंडी, ठाकरे सरकार ने नहीं दी इजाजत, कहा जोश से ज़रूरी है जान


महाराष्ट्र में इस बार भी दही हंडी (Dahi Handi) का त्योहार नहीं मनाया जाएगा. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) ने सार्वजनिक दही हंडी को इजाजत नहीं दी. राज्य के गोविंदा पथकों के प्रतिनिधियों के साथ आज (23 अगस्त, सोमवार) हुई बैठक के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह स्पष्ट कर दिया. सीएम ने कहा कि फिलहाल लोगों की जान बचानी जरूरी है, इसलिए कुछ समय तक पर्व-त्योहार (दही हंडी, गोकुल अष्टमी, जन्माष्टमी) को साइड में रखना पड़ेगा.

मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि कोरोना की दूसरी लहर (Corona in Maharashtra) नियंत्रण में आई है. लेकिन कोरोना की तीसरी लहर (Third Wave of Corona) की आशंका कायम है. ऐसे में राज्य सरकार हर चीज में पूरी तरह से छूट नहीं दे सकती. विपक्ष की लगातार यह मांग रही है कि पर्व-त्योहारों में प्रतिबंध शिथिल किए जाएं. गोविंदा पथकों की भी यह मांग थी कि अधिक भीड़ ना बढ़ाते हुए और कोरोना नियमों का पालन करते हुए दही हंडी मनाने की छूट दी जाए. यह भी कहा गया था कि उन्हीं गोविंदाओं को दही हंडी फोड़ने में शामिल किया जाएगा, जिन्होंने कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ली हुई है. इन्हीं मांगों पर गौर करने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ गोविंदा पथकों (दही हंडी फोड़ने वाले कृष्णभक्त) के प्रतिनिधियों की बैठक हुई. इस मीटिंग में उप मुख्यमंत्री अजित पवार (Dy CM Ajit Pawar), राजस्व मंत्री बालासाहब थोरात (Balasaheb Thorat, Cabinet Minister), गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील (Dilip Walse Patil, Home Minister) भी मौजूद थे.मुख्यमंत्री ने कुछ समय तक गोविंदा पथकों से संयम रखने का आग्रह किया.




SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: