Monday, 30 August 2021

Big Newsमहाराष्ट्र: मंदिर खुलवाने हेतु BJP का राज्य भर में आंदोलन, सुधीर मुनगंटीवार हुए गिरफ्तार


मुंबई. अभी आ रही एक बड़ी खबर के अनुसार BJP के कद्दावर नेता सुधीर मुनगंटीवार (Sudhir Bhau Mungantiwar) को हिरासत (Arrest) में ले लिया गया है। दरअसल सुधीर मुनगंटीवार बाबुलनाथ मंदिर परिसर में आंदोलन कर रहे थे। बता दें कि महाराष्ट्र (Maharashtra) में मंदिरों के द्वार खुलवाने के लिए BJP एक आन्दोलन कर रही है। BJP जा इस मुद्दे पर कहना है कि, वैसे तो कोरोना के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए राज्य भर में जगह-जगह भीड़ बढ़ाने वाली राजनीतिक यात्राएं और सभाएं शुरू हैं। होटल-मॉल्स शुरू हैं। फिर मंदिर जाने के लिए भक्तों को क्यों रोका जा रहा है? क्या सिर्फ सिर्फ मंदिर खोलने से ही कोरोना बढ़ता है क्या?

क्या कहती है शिवसेना

इसी बीच आज BJPनेता सुधीर मुनगंटीवार को हिरासत में ले लिया गया है। सुधीर मुनगंटीवार बाबुलनाथ मंदिर परिसर में आंदोलन कर रहे थे। इधर इस मुद्दे पर शिवसेना के नेता संजय राउत ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि, पहले BJP अपने शासित प्रदेशों में मंदिरें क्यों नहीं खुलवाते? इन्हें BJP शासित प्रदेशों में मंदिर बंद रहना चलता है, लेकिन महाराष्ट्र में मंदिर खोलने के लिए आंदोलन कर रहे हैं। वहीं अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक ने इस मुद्दे पर कहा कि, कोरोना के खतरे को देखते हुए मंदिर खुलवाने का आंदोलन BJP की ओर से उठाया गया एक बहुत ही बड़ा गैरजिम्मेदारी वाला कदम है।


क्या है घटना

दरअसल भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आज यानी सोमवार, 30 अगस्त को राज्यभर में एक वृहद आंदोलन आरंभ किया है। आज एक बड़ा बीजेपी नेता चंद्रशेखर बावनकुले (Chandrashekhar Bawankule) और चंद्रकांत पाटील (Chandrakant Patil) के नेतृत्व में राज्यव्यापी आंदोलन बड़े ही आक्रामक तरीके से किया जा रहा है। इसके चलते मुंबई सहित नासिक, नागपुर, पंढरपुर, पुणे, औरंगाबाद के शिर्डी जैसे अलग-अलग शहरों और जिलों में BJP के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने मंदिरों में घंटानाद और शंखनाद करते हुए आज से मंदिर खोलने की मांग की और आंदोलन भी शुरू किया। ऐसे में अब पुलिस ने भी अपना बंदोबस्त बढ़ा दिया है और राज्य के कई मंदिर कई मंदिर परिसर छावनी में तब्दील हो गए हैं।

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: