Saturday, 31 July 2021

Kala Jathedri Arrested: 600 शार्प शूटर्स की फ़ौज वाला गैंगस्टर लॉरेश बिश्नोई की निशानदेही पर पकड़ा गया काला जठेड़ी, पढ़िए दिल्ली के इस डॉन की गिरफ़्तारी की Inside Story



दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने दिल्ली के कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी (Gangster kala jathedri) को गिरफ्तार कर लिया है. अब सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि तिहाड़ जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर लॉरेश बिश्नोई (lawrence bishnoi) की निशानदेही पर ही पुलिस ने काला जठेड़ी को गिरफ्तार किया हैं. स्पेशल सेल (Special Cell) को काला जठे़डी का 20 दिन का रिमांड मिला है. जानकारी के अनुसार काला जेठेडी और उसके गैंग के खिलाफ मकोका में मुकदमा दर्ज है, इसलिए उन्हें 28 दिन तक रिमांड पर लिया जा सकता है.

600 शार्प शूटर्स की फ़ौज वाला गैंगस्टर लारेंश बिश्नोई जो फिलहाल तिहाड़ जेल में बंद है. बिश्नोई को मकोका में जब गिरफ्तार कर स्पेशल सेल की काउंटर इंटेलीजेंस यूनिट ने अपनी रिमांड पर लिया तो उसने काला जठेड़ी को लेकर सख्ती से पूछताछ करने पर भी अपना मुंह नहीं खोला. इसके बाद स्पेशल सेल ने एक ट्रिक अपनाई और बिश्नोई की 20 दिन की कस्टडी खत्म होते ही उसे वापस तिहाड़ जेल भेज दिया. स्पेशल सेल ने अपने मुखबिरों के जरिए जेल में एक मोबाइल पहुंचाया जो काला की गिरफ्तारी के लिए एक ऑपरेशन का हिस्सा था.

लारेंश बिश्नोई के पास जैसे ही जेल में मोबाइल फोन पहुंचा उसने जेल के बाहर अपने गैंग मेंबर को फोन करना शुरू कर दिया. तभी बिश्नोई ने काला गैंग के बेहद करीबियों के जरिये काला से भी जेल के अंदर से ही बात की. स्पेशल सेल चाहती भी यही थी कि बिश्नोई वही गलती कर गया. इसके बाद बाद स्पेशल सेल ने एक महीने तक बिश्नोई के फोन कॉल्स पर नजर रखना शुरू कर दिया. इसके बाद तीन बार काला स्पेशल सेल के कब्जे में आते आते रडार से बाहर हो गया.

स्पेशल सेल लगातार बिश्नोई के मोबाईल फोन पर नजर बनाई हुई थी, तभी जैसे ही उसने फिर काला से जेल के अंदर से बात की उसी के इनपुट पर सहारनपुर के अमानत ढाबे पर काला और रिवाल्वर रानी उर्फ लेडी डॉन अनुराधा को गिरफ्तार कर लिया गया. स्पेशल सेल के मुताबिक साल 2020 फरवरी में फरीदाबाद पुलिस की कस्टडी से फरार होने के बाद काला जठेड़ी यूपी के मथुरा, राजस्थान, पंजाब, मुंबई, राजस्थान, मध्यप्रदेश, बिहार, नेपाल में छुपता रहा.


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: