Wednesday, 9 June 2021

पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के OSD रहे राम खांडेकर का निधन, लंबे समय से थे बीमार



पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव (Ex-PM Narasimha Rao) के OSD रहे राम खांडेकर (Ram Khandekar) का लंबी बीमारी के बाद नागपुर में निधन हो गया है. वह 87 वर्ष के थे. सूत्रों ने बताया कि मंगलवार देर रात महाराष्ट्र में उनके गृहनगर नागपुर (Nagpur, Maharashtra) में उनका निधन हो गया. उनके परिवार में उनका बेटा, बहू और दो पोते-पोतियां हैं. खांडेकर को 1985 में नरसिम्हा राव ने नागपुर में अपने तत्कालीन निर्वाचन क्षेत्र रामटेक का मैनेजमेंट करने के लिए आमंत्रित किया था.

1991 में, जब राव प्रधान मंत्री बने, खांडेकर ने उनके विशेष कर्तव्य अधिकारी (Officer on Special Duty-OSD) के रूप में काम किया. खांडेकर को राव का एक करीबी विश्वासपात्र माना जाता था और उनकी मृत्यु तक उनके साथ काम किया. इसके साथ ही, उन्होंने महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री वाई बी चव्हाण के निजी सचिव के रूप में भी काम किया था. खांडेकर अक्सर अपनी सेवा अवधि और राजनीतिक नेताओं के साथ बातचीत के आधार पर अलग-अलग मराठी समाचार पत्रों के लिए लेख लिखते थे.

राम खांडेकर, जिन्होंने यशवंतराव चव्हाण और नरसिम्हा राव जैसे दिग्गज राजनीतिक नेताओं के निजी सचिव के रूप में सरकारी सेवा में चार साल बिताए, सत्ता के बहुत करीब रहते हुए कई उथल-पुथल देखी. खांडेकर ने अपनी ईमानदारी की दम पर ही यशवंतराव और नरसिम्हा राव का विश्वास जीता था. उन्होंने अपनी सेवा अवधि और राजनीतिक नेतृत्व के साथ बातचीत के आधार पर अलग-अलग दिवाली अंक के लिए कम से कम 60-70 लेख लिखे. साल, 2018 में, उन्होंने सार्वजनिक जीवन के पांच दशकों से ज्यादा के अपने बड़े अनुभव के आधार पर लोकसत्ता के लिए एक साप्ताहिक कॉलम लिखा, जिसे 2019 में राजहंस पब्लिकेशन की तरफ से ‘सत्तेच्य पदछाये’ नाम की किताब के रूप में प्रकाशित किया गया था.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.