Monday, 21 June 2021

जब तक कोरोना खत्म नहीं होगा, MUMBAI LOCAL शुरू नहीं होगी; मंत्री विजय वडेट्टीवार का बड़ा बयान


कोरोना खत्म होने से पहले मुंबई लोकल शुरू नहीं होगी- विजय वडेट्टीवार

कोरोना की दूसरी लहर कम होती हुई देखकर मुंबईकर लगातार यह सवाल पूछ रहे थे कि मुंबई की लाइफलाइन कही जाने वाली मुंबई लोकल कब शुरू होगी? जवाब में राज्य के सामाजिक कल्याण मंत्री विजय वडेट्टीवार ने साफ कह दिया है कि जब तक कोरोना खत्म नहीं हो जाता, तब तक लोकल शुरू नहीं होने वाली है. यानी अब आम यात्रियों के लिए मुंबई लोकल शुरू होने का इंतज़ार अब और आगे बढ़ गया है.
कैबिनेट विजय वडेट्टीवार ने कहा है कि राज्य में कोरोना गया नहीं है. कुछ जिलों में अभी भी कोरोना की स्थिति चिंताजनक बनी हुई है. इसलिए स्वयं मृत्यु को निमंत्रण ना दें. सभी लोग कोरोना के नियमों का पालन करें. मुंबई राज्य की राजधानी है. भीड़-भाड़ की जगह है. इसलिए जब तक कोरोना खत्म नहीं हो जाता, तब तक मुंबई लोकल शुरू नहीं होगी.

तीसरी लहर का डर, नहीं चलेगी लोकल-बोली मेयर

इस बीच मुंबई की मेयर किशोरी पेडणेकर ने भी यह साफ कहा है कि आम यात्रियों के लिए मुंबई लोकल शुरू नहीं किया जा रहा है. उन्होंने तीसरी लहर का डर बताते हुए कहा कि अगर तीसरी लहर आई तो वो भयंकर होगी. साथ ही उन्होंने कहा कि अभी भी रोज पांच सौ-छह सौ कोरोना के नए केस सामने आ रहे हैं. कोरोना संक्रमण में अभी और कमी लाने की जरूरत है. धारावी अब कोरोनामुक्त हो चुकी है. वरली में परसों सिर्फ एक कोरोना मरीज सामने आए. संक्रमण कम तो निश्चित हुआ है, लेकिन खतरा बना हुआ है. इसलिए आम यात्रियों को अभी और प्रतीक्षा करनी पड़ेगी.
इस मुद्दे पर बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने भी अपनी राय देते हुए कहा था कि मुंबई लोकल को एकदम सबके लिए शुरू कर दिया जाएगा तो कोरोना संक्रमण एक बार फिर बढ़ जाएगा. इसलिए शुरुआत में इसे महिलाओँ के लिए और कुछ खास कर्मचारियों के लिए शुरू किया जा सकता है.
मुंबई में प्रतिबंध 27 जून तक बढ़ाए गए
वर्तमान समय में मुंबई में कोरोना संक्रमण कम होने के बावजूद सावधानियों के तहत पांच चरणों के वर्गीकरण में इसे तीसरे चरण में रखा गया है. नियम और शर्तों के तहत मुंबई को पहले चरण में होना चाहिए और मुंबई लोकल सहित सभी कारोबार, व्यवहार, दुकानें, मॉल्स खोल दिए जाने चाहिए. लेकिन ऐसा नहीं किया गया है और अतिरिक्त सावधानी बरतते हुए 27 जून तक मुंबई में तीसरे चरण के सारे प्रतिबंधों को कायम रखा गया है. शर्तें यह रखी गई हैं कि जिन जिलों या शहरों में पॉजिटिविटी रेट 5 प्रतिशत से कम और ऑक्सीजन बेड 25 प्रतिशत से कम भरे होंगे उन्हें पहले चरण में रखा जाएगा और वहां किसी भी तरह के नियम और प्रतिबंध लागू नहीं होंगे. आंकड़ों के आधार पर मुंबई पहले चरण में है, लेकिन इसे तीसरी चरण में रखा गया है.


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: