mumbai के don की love story का जयपुर में अंत:किराना दुकानदार की पत्नी पर आया दिल, 13 लाख में दी पति की सुपारी; फायरिंग से पहले शूटरों ने खरीदी बाइक, डॉन भी गिरफ्तार

मुंबई के डॉन कमलेश शिंदे का शादीशुदा महिला पर दिल आ गया था। फोन पर उससे बात करता और छुप-छुप कर मिलता था। विवाहिता को अपना बनाने के लिए उसने साम, दाम, दंड सब तरीके अपनाए। उसे पाने के लिए दबाव बनाया और धमकी भी दे डाली। विवाहिता के पति को प्रेम कहानी का पता लगा तो उसने विरोध किया। तब दंपती परिवार मुंबई से जयपुर आ गया। यहां पर भी मुंबई का डॉन उसे तलाश करते हुए पीछे-पीछे आ पहुंचा। आखिर में डॉन ने विवाहिता के पति से पीछा छुड़ाने के लिए 13 लाख रुपए में हत्या करने के लिए दो शूटरों को सुपारी दे दी। 16 जून को कार साफ कर रहे विवाहिता के पति आदित्य पर दो शूटरों ने फायरिंग कर डाली। गनीमत रही कि वह बच गया। जयपुर पुलिस ने मामले की जांच करते हुए विवाहिता के प्रेम में पागल मुंबई के डॉन को एक शूटर के साथ गिरफ्तार कर लिया है।
डीसीपी वेस्ट प्रदीप मोहन शर्मा ने बताया कि मुंबई से कमलेश शेषराव पुत्र शेषराव शिंदे मुंबई के डोम्बीवैली ठाणे का रहने वाला है। शूटर सावन कुमार पुत्र बचनाराम भीनमाल जालोर का रहने वाला है। वह डोम्बीवली में कच्ची बस्ती में रहता था। पुलिस दो अन्य फरार मंगेश प्रभाकर व सौरभ झा की तलाश कर रही है। जांच में पता लगा कि मुंबई डॉन कमलेश ने मंगेश कुमार को आदित्य की हत्या करने के लिए 13 लाख रुपए में सुपारी दी थी। इसके बाद मंगेश ने सौरभ झा व सावन कुमार को आदित्य की हत्या करने के लिए जयपुर में भेजा। दोनों ने जयपुर आकर पहले 14 जून को एक पावर बाइक खरीदी थी। वे जयपुर में अजमेर रोड पर निर्माण नगर में राजगेस्ट हाउस में कमरा लेकर रुके थे। करणी विहार थानाधिकारी जयसिंह, एसआई सुनील गोदारा व अन्य टीम बदमाशों को पकड़ने में जुट गई।
मुंबई डॉन की दुकान पर नजरें मिली तो प्रेम जाल में फंसा
जांच में पता लगा कि आदित्य जैन परिवार के साथ डोम्बीवेली वेस्ट ठाणे में 2018 से अक्टूबर 2020 तक रहता था। वे दोनों डोम्बीवेली में किराने की दुकान चलाते थे। दुकान के पास में ही मुंबई डॉन कमलेश शिंदे का बिल्डिंग कांट्रेक्टर का काम चल रहा था। उसका दुकान पर आना-जाना शुरू हो गया। तब उसकी नजर सैफाली पर पड़ गई। वह एक तरफ प्रेम में फंस गया। वह रोजाना सुबह-शाम दुकान पर जाने लगा।उसने सैफाली का मोबाइल नंबर ले लिया। उससे फोन पर भी बातें करने लग गया। यहां तक कि उससे छिप कर मिलने भी लगा था। कुछ दिनों तक यह चलता रहा, लेकिन बाद में आदित्य को दोनों के बारे में पता लगा। आदित्य ने कमलेश से दुकान पर आने का विरोध किया। दोनों के बीच में काफी कहासुनी हुई। डॉन कमलेश ने उसे धमकी दी। आदित्य परेशान हो गया था। आदित्य ने सारा काम बंद कर दिया और रातों-रात जयपुर में आकर रहने लगा।

हत्या के बाद दोनों शूटरों की भागते हुए सीसीटीवी फुटेज मिली थी।
हत्या के बाद दोनों शूटरों की भागते हुए सीसीटीवी फुटेज मिली थी।

डॉन कमलेश ने जयपुर पहुंच कर धमकी दी
डॉन कमलेश प्रेम में पूरी तरह से पागल हो चुका था। रातों-रात जैसे ही आदित्य शहर छोड़ कर आ गया तो कमलेश में भी तिलमिला उठा। आदित्य ने जयपुर में आकर मोबाइल नंबर भी बदल डाला था। अब डॉन कमलेश दोनों की तलाश में पागलों की तरह से जुट गया था। कमलेश को किसी तरह से उनके जयपुर में होने का पता लग गया। कमलेश जयपुर में आदित्य के घर पहुंचा। वह सैफाली को साथ ले जाने पर अड़ गया। सैफाली ने उसके साथ जाने से मना कर दिया। कमलेश ने उन्हें बर्बाद करने व जाने से मारने की धमकी दी। वह प्रेम में पागल होकर पूरी तरह से जलने लगा था। अब उसने बदला लेने की ठान ली थी और वह आदित्य को रास्ते से हटाने की प्लानिंग में जुट गया। वह मुंबई वापस चला गया।

कार साफ करने के दौरान की फायरिंग

16 जून को सुबह करीब 10 बजे आदित्य जैन आम्रपाली नगर गांधीपथ रोड पर गाड़ियों की सफाई कर रहा था। तब एक पावर बाइक पल्सर पर दो युवक आए। आदित्य के पास रूके। पीछे बैठे एक युवक ने आदित्य से जगह का पता पूछा। तब बाइक चला रहे युवक ने आदित्य पर पिस्टल निकाल कर फायर कर दिया। आदित्य घबरा गया। वह सामने अपार्टमेंट की ओर भागा। भागते हुए उस पर कई फायर किए। वह अंदर जाकर छिप गया। दोनों शूटर वहीं पर छिपे रहे। कुछ देर के बाद बाहर निकल कर आया तो दोनों शूटरों ने फिर से फायर कर डाले। तब वह एक दुकान में जाकर छिप गया। इसके बाद वह दोनों फरार हो गए।

सफाई करते समय कार पर लगी थी गोली।
सफाई करते समय कार पर लगी थी गोली।

फायरिंग के बाद एक शूटर जालोर भागा
जयपुर पुलिस ने दोनों शूटरों को पकड़ने के लिए करीब 5 किलोमीटर तक एरिये को पूरी तरह से खंगाला। दोनों की पुलिस को सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को मिली। पुलिस की टीमें पूरे मामले की जांच में जुड़ गई। दोनों के पीछे बैग लगे हुए थे। दोनों बाइक से ही फरार हुए थे। पुलिस को गेस्ट हाउस व होटलों में कहीं रूकने का अंदेशा हुआ। तब पुलिस ने गेस्ट हाउस खंगाले। पुलिस राजगेस्ट हाउस तक पहुंच गई। वहां रजिस्टर में दोनों इंट्री मिलीे। एक युवक जालोर भाग गया था। पुलिस ने जालोर से उसे गिरफ्तार कर लिया था।

Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget