Maharashtra Politics: नाना पटोले की जाएगी कुर्सी

  1. महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले दिल्ली रवाना
  2. उत्तर महाराष्ट्र के दौरे पर थे नाना पटोले
  3. नाना पटोले के दिल्ली जाने की खबर के बाद अटकलों का बाजार गर्म
  4. महाराष्ट्र कांग्रेस में फेरबदल की भी संभावना

मुंबई. महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार उत्तर महाराष्ट्र के दौरे पर थे। लेकिन अब वे यह दौरा बीच में ही छोड़कर दिल्ली रवाना हो रहे हैं। अचानक दिल्ली के जाने की खबर के बाद महाराष्ट्र कांग्रेस में फेरबदल होने की अटकलों ने भी सिर उठाना शुरू कर दिया है। हालांकि नाना पटोले ने किसी भी प्रकार के फेरबदल होने की खबरों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा कि मानसून सत्र और कुछ बीजेपी के नेता कांग्रेस में शामिल होना चाहते हैं। इसलिए वे दिल्ली में चर्चा के लिए जा रहा हैं । नाना पटोले फिलहाल आगामी विधानसभा के चुनावों को अकेले लड़ने वाले बयान के बाद से शिवसेना और एनसीपी के निशाने पर आ गए हैं। हालाकिं महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी एचके पाटिल और पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा है कि फिलहाल ठाकरे सरकार को कोई खतरा नहीं है। इसके अलावा अकेले चुनाव लड़ना है या फिर गठबंधन करना है, इसपर बाद में फैसला लिया जायेगा।



सोनिया गांधी ने बुलाई बैठक
सूत्रों की माने तो कांग्रेस अध्यक्षा गांधी ने कांग्रेस नेताओं की दिल्ली में बैठक बुलाई है। कांग्रेस के सचिव, प्रदेश अध्यक्ष और राज्य प्रभारियों को भी इस बैठक में शामिल होने का आदेश दिया गया है। महाविकास अघाड़ी सरकार के कामकाज को लेकर इस बैठक में चर्चा होने की संभावना जताई जा रही है। महाराष्ट्र में कांग्रेस के खुद के दम पर चुनाव लड़ने की घोषणा पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की इस विषय पर भी रायशुमारी ली जा सकती हैं। इसके अलावा कांग्रेस के विभिन्न मुद्दों पर भी बैठक में चर्चा होने की संभावना है। कोरोना, महंगाई पेट्रोल और डीजल के दाम इन बातों पर भी पार्टी के नेता अपनी भूमिका रख सकते हैं।
पटोले के बयान से नेता नाराज
खुद के दम पर आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने की बात करने वाले नाना पटोले के इस बयान को लेकर अब महाराष्ट्र कांग्रेस के नेताओं में भी नाराजगी की खबरें सामने आ रही हैं। कई नेताओं का कहना है कि फिलहाल चुनाव में काफी समय है लिहाजा अभी से इस तरह के बयान देना सही नहीं होगा। दूसरी तरफ पटोले के बयान के बाद शिवसेना और एनसीपी के नेता में भी नाराज नजर आ रहे हैं। खुद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और उपमुख्यमंत्री अजीत पवार भी अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं।

Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget