LJP को लेकर चाचा-भतीजा आमने -सामने:चिराग को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाया, तो चिराग ने पांचों बागी सांसदों को बाहर का रास्ता दिखाया

 

रविवार शाम से LJP में शुरू हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा अब अंदरूनी लड़ाई सतह पर आ चुकी है। - Dainik Bhaskar
रविवार शाम से LJP में शुरू हुआ हाई वोल्टेज ड्रामा अब अंदरूनी लड़ाई सतह पर आ चुकी है।

लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) की लड़ाई अब परिवार से निकलकर पार्टी में पहुंच गई है। अंदरूनी लड़ाई सतह पर आ चुकी है। सोमवार को पूरे दिन हुए हाई वोल्टेज ड्रामे के बाद LJP संसदीय दल के नए नेता बने पशुपति कुमार पारस ने आज राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाकर पहले चिराग पासवान को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष से हटाने की अनुशंसा कर दी। इसके तुरंत बाद चिराग पासवान ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाकर पांचों सांसदों को LJP से हटाने की अनुशंसा कर दी।

LJP राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग करते चिराग पासवान।
LJP राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग करते चिराग पासवान।

राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान की वर्चुअल बैठक

जानकारी के मुताबिक वर्चुअल कार्यकारिणी की बैठक में चिराग पासवान राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर मौजूद थे। पार्टी के सभी पदाधिकारी मौजूद थे। साथ ही कई राज्यों के अध्यक्ष भी इस बैठक में मौजूद थे। LJP चिराग गुट ने यह तय किया है कि जिन पांच सांसदों ने बगावत की है, उन्हें हटाया जाता है। बाकी सभी लोग संगठन में काम करते रहेंगे और संगठन को मजबूत करेंगे।

इस दौरान चिराग पासवान ने कहा उनका बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट कार्यक्रम चलता रहेगा। बिहार सरकार के खिलाफ वह अपने आंदोलन को चलाते रहेंगे।

चाचा पशुपति पारस की बैठक

इससे पहले चिराग के चाचा पशुपति पारस ने अपने पांचों सांसदों के साथ राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करके चिराग पासवान को राष्ट्रीय अध्यक्ष से मुक्त कर दिया। पशुपति पारस का दावा है LJP उनकी पार्टी है। और वह इस पार्टी के संगठनकर्ता है। सारे सांसदों ने उन्हें संसदीय दल का नेता चुना है। इस एवज में उन्होंने चिराग पासवान को अध्यक्ष पद से हटाया है। हालांकि चुनाव आयोग तय करेगा कि असली LJP कौन है।

Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget