Saturday, 8 May 2021

पाकिस्तान में सिंध का जलवा। पहली बार हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी, वे पेशे से MBBS डॉक्टर भी हैं

 

सना रामचंद्र ने कहा- मैं बेहद खुश हूं, लेकिन हैरान नहीं। मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी हूं। - Dainik Bhaskar
सना रामचंद्र ने कहा- मैं बेहद खुश हूं, लेकिन हैरान नहीं। मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी हूं।

पड़ोसी देश पाकिस्तान में पहली बार एक हिंदू लड़की असिस्टेंट कमिश्नर बनी है। उनका नाम सना रामचंद है। उन्हें यह मुकाम हासिल करने के लिए सेंट्रल सुपीरियर सर्विस (CSS) पास करनी पड़ी। इसके बाद उनका चयन पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा (PAS) में हुआ। यह पाकिस्तान की सबसे बड़ी प्रशासनिक परीक्षा है। सना पेशे से MBBS डॉक्टर भी हैं।

CSS की लिखित परीक्षा में 18,553 कैंडिडेट्स शामिल हुए। इनमें 221 पास हुए। सना ने स्थानीय मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा, 'मैं बेहद खुश हूं, लेकिन हैरान नहीं। मुझे बचपन से ही कामयाबी की ललक है और मैं इसकी आदी हो चुकी हूं। मैं अपने स्कूल, कॉलेज और FCPS की परीक्षा में भी टॉप कर चुकी हूं।'

सना सर्जन भी बन जाएंगी
सना सिंध प्रांत के शिकारपुर जिले की रहने वाली हैं। उन्होंने सिंध प्रांत के चंदका मेडिकल कॉलेज से MBBS किया। अभी वे सिंध इंस्टिट्यूट ऑफ यूरोलॉजी एंड ट्रांसपेरेंट से FCPS की पढ़ाई कर रही हैं। वे जल्द ही सर्जन बनने वाली हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.