मनसुख हिरेन हत्याकांड में API रियाज काजी पर गिरी गाज, पुलिस की नौकरी से हटाया गया






मुंबई: मनसुख हिरेन हत्याकांड मामले (Mansukh Hiren Murder Case) में मुंबई पुलिस के सहायक पुलिस इंस्पेक्टर रियाज काजी (API Riyaz Kazi) को पुलिस की नौकरी से हटा दिया गया है. रियाज मुंबई पुलिस की लोकल आर्म्स में कार्यरत था.
मुंबई पुलिस कमिश्नर ने आज (शुक्रवार) भारत के संविधान के अनुच्छेद 311(2)(बी) के तहत रियाज काजी (API Riyaz Kazi) को नौकरी से हटाने का आदेश जारी किया.
रियाज काजी (Riyaz Kazi) को पिछले महीने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने एंटीलिया के बाहर विस्फोटक लदी कार मिलने और मनसुख हिरेन हत्या मामले में 11 अप्रैल को गिरफ्तार किया था. रियाज काजी पर सचिन वाजे (Sachin Vaze) के साथ मिलकर साजिश रचने और सुबूत मिटाने का आरोप है.

बता दें कि मनसुख हिरेन मुंबई से सटे ठाणे जिला में गाड़ियों के स्पेयर पार्ट्स का बिजनेज चलाते थे और ठाणे के डॉ आंबेडकर रोड पर स्थित विकास पाम्स नाम की सोसाइटी में रहते थे. मनसुख उस समय चर्चा में आए थे, जब एंटीलिया के पास 25 फरवरी को विस्फोटक और धमकी भरे पत्र के साथ स्कॉर्पियो एसयूवी कार मिली थी, जो मनसुख की थी. इस घटना के बाद से मनसुख से मुंबई पुलिस ने कई बार घंटों तक पूछताछ की थी. हिरेन ने दावा किया था कि कार उनकी है, लेकिन घटना से एक हफ्ते पहले वह चोरी हो गई थी. इस मामले में उस समय पेंच आया जब 5 मार्च को हिरेन का शव ठाणे में कलवा क्रीक में मिला. हिरेन की पत्नी ने दावा किया कि उनके पति ने एसयूवी पिछले साल नवंबर में वझे को दी थी और उन्होंने फरवरी के पहले हफ्ते में यह कार लौटाई थी.

Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget