Coronavirus: महाराष्ट्र में बार और शराब के ठेके बंद, होम डिलीवरी चालू!

 Coronavirus: महाराष्ट्र में बार और शराब के ठेके बंद, होम डिलीवरी चालू!

संकेतात्मक तस्वीर

बड़ी तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए दिल्ली और महाराष्ट्र ने कई एहतियाती कदमों का ऐलान किया है. प्रदेश सरकारों की तरफ से नाइट कर्फ्यू के साथ कई कड़ी पाबंदियां तामिल की गई हैं. दिल्ली में नाइट कर्फ्यू तो महाराष्ट्र में कर्फ्यू के साथ वीकेंड लॉकडाउन का ऐलान किया गया है. दिल्ली में हर दिन 10 बजे रात से सुबह 5 बजे तक सबकुछ बंद रहेगा. यह बंदी 30 अप्रैल तक चलेगी.

उधर महाराष्ट्र ने भी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को बंद रखने का ऐलान किया है. इसमें बार और शराब के ठेके भी शामिल हैं. दिल्ली में रात 10 बजे शराब की दुकानें बंद हो जाती हैं. इसलिए कर्फ्यू का कोई असर नहीं पड़ेगा. लेकिन महाराष्ट्र सरकार ने रात में हर तरह की शराब बिक्री पर रोक लगा दी है.

महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि अगले किसी आदेश तक शहरों और ग्रामीण इलाकों में हर तरह के बार और शराब की दुकानें बंद रहेंगी. सरकार के मुताबिक महाराष्ट्र में स्पिरिट के किसी उत्पाद की बिक्री की अनुमति नहीं होगी. होलसेल या रिटेल शराब की बिक्री अगले आदेश तक बंद रहेगी. इस गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों को कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है. हालांकि शराब के उत्पादन पर किसी तरह की रोक नहीं रहेगी और शराब की फैक्ट्री पहले की तरह काम करती रहेंगी. फैक्ट्रियों को निर्देश दिया गया है कि प्रोडक्शन यूनिट में काम करने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा खयाल रखा जाएगा.

स्कूल-कालेज बंद

महाराष्ट्र में शराब की होम डिलिवरी या पार्सल डिलीवरी को लेकर अब तक किसी नए नियम का ऐलान नहीं हुआ है. पिछले साल लॉकडाउन के दौरान शराब की भारी मांग को देखते हुए ऑनलाइन डिलीवरी की सुविधा दी गई थी.

महाराष्ट्र में स्कूल, कालेज और कोचिंग क्लासेज को बंद कर दिया गया है. सभी धार्मिक स्थल, बार और रेस्टोरेंट बंद करने का ऐलान किया गया है. सलून, ब्यूटी पार्लर, स्पा, सिनेमा हॉल और ड्रामा थिएटर्स भी बंद रहेंगे. मनोरंजन पार्क, अर्केड वाटर पार्क्स, सभी गैर-जरूरी दुकानें, क्लब, जिम, स्वीमिंग पूल, स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स, प्राइवेट ऑफिस को बंद करने का निर्णय लिया गया है. इसके साथ ही सभी प्रकार के सामाजिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों पर रोक है. मॉल, दुकानें और बाजार-हाट बंद रहेंगे. हालांकि जरूरी श्रेणी की दुकानों को छूट दी गई है.

पिछले साल लॉकडाउन में थी छूट

पिछले साल लॉकडाउन के दौरान घर पर शराब की डिलीवरी करने की छूट मिली थी. शराब का ऑर्डर फोन पर दिए जाने की सुविधा दी गई थी. बाद में इसे ऑनलाइन भी किया गया. आईएमएफएल, बीयर और शराब बेचने वाले दुकानदारों को परमिट होल्डर्स के घर पर शराब की डिलीवरी करने की सुविधा दी गई थी. पुणे और नासिक में टोकन सुविधा शुरू की गई थी जो कुछ निश्चित अवधि के लिए थी. पुणे और नासिक के होलसेलर्स ने मोबाइल ऐप बनाया था जिसके जरिये लोग ऑनलाइन टोकन पा सकते थे. टोकन नंबर मिलने के बाद एक फिक्स समयावधि में लोग अपना स्टॉक पा सकते थे. फोन के जरिये भी लोग शराब का टोकन नंबर प्राप्त कर सकते थे.

Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget