मुंबई, Coronavirus Vaccine । महाराष्ट्र में कोरोना वैक्सीन को लेकर अब सियासत शुरू हो गई है। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा है कि प्रदेश के वैक्सीनेशन सेंटर पर पर्याप्त वैक्सीन की खुराक नहीं है और कई स्थानों पर हमें लोगों को वापस भेजना पड़ा है। साथ ही टोपे ने यह भी कहा कि 20 से 40 वर्ष की उम्र के लोगों को भी प्राथमिकता के साथ कोरोना वैक्सीन की खुराक दी जानी चाहिए। इससे पहले मुंबई की महापौर किशोरी पेडेकर ने भी कहा था कि मुंबई में COVID-19 वैक्सीन की खुराक की कमी है। इसके जवाब में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि देश में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है और जरूरत के हिसाब से सभी राज्यों में वैक्सीन तत्काल पहुंचाई जा रही है।

महाराष्ट्र में हालात चिंताजनक

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ने के कारण महाराष्ट्र मेंहालात चिंताजनक होते जा रहे हैं। बीते 24 घंटों में यहां कोरोना संक्रमण के 55469 नए मामलों की पुष्टि हुई है और 297 लोगों की मौत हुई है। महाराष्ट्र में अभी तक में कोरोना संक्रमण के कुल 31,13,354 मामले हैं, जिनमें से 4,72,283 मरीज सक्रिय हैं। कुल 25,83,331 अब तक स्‍वस्‍थ हो चुके हुए। इस महामारी के कारण अब तक 56,330 लोगों की जान जा चुकी है।

- महाराष्ट्र के बाद अब दिल्ली, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र और पंजाब समेत कई राज्य सरकारों ने सख्त पाबंदियां लगा दी हैं। दिल्ली में अब रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक घर से निकलने पर रोक लगा दी गई है।

- गुजरात सरकार ने भी 30 अप्रैल तक 20 प्रमुख शहरों में शाम 8 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी है।

- पंजाब सरकार ने भी 30 अप्रैल तक के लिए राज्य में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक के लिए नाइट कर्फ्यू लागू किया है। पंजाब में इस दौरान रेस्टोरेंट और होटलों में बैठकर खाने की अनुमति नहीं है।

- उत्तर प्रदेश में में सख्त पाबंदियां लागू कर दी गई है। मास्क न पहनने पर कार्रवाई की जा रही है। कक्षा आठ तक के सभी सरकारी और निजी स्कूलों को 11 अप्रैल तक बंद रखने का निर्देश दिया गया है।

- बिहार में सार्वजनिक आयोजनों पर भी रोक लगाई है। शादी-ब्याह में अधिकतम 250 और श्राद्ध में 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। स्कूल, कॉलेज 11 अप्रैल तक बंद रखे जाएंगे।

- छत्तीसगढ़ दुर्ग जिले में हालात चिंताजनक है। यहां सरकार ने 9 दिन का लॉकडाउन लगा दिया है।

- मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण एक बार फिर से बेकाबू हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं लॉकडाउन नहीं लगाना चाहता हूं, इसलिए सभी लोग मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से करें।