Sunday, 14 March 2021

Big news: एंटीलिया केस: पुलिस अधिकारी सचिन वाजे गिरफ्तार, 12 घंटे की पूछताछ के बाद NIA का एक्शन


सरिता शर्मा

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने एंटीलिया केस में महाराष्ट्र पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे को गिरफ्तार कर लिया है. NIA के अधिकारियों ने 12 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद 13 मार्च यानी कि शनिवार को रात 11 बजकर 50 मिनट पर सचिन वाजे को गिरफ्तार कर लिया. इससे पहले ठाणे की अदालत ने सचिन वाजे को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया था. 

NIA से मिली जानकारी के अनुसार एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वाजे को 12 घंटे की लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया है. बता दें कि NIA मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर से कुछ दूरी पर विस्फोटकों से लदे एक स्कॉर्पियो वाहन मिलने के मामले की जांच कर रही है. ये घटना 25 फरवरी 2021 की दक्षिण मुंबई की है. यहीं पर मुकेश अंबानी का निवास एंटीलिया मौजूद है. 

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वाजे को अदालत रविवार को अदालत में पेश कर सकती है. NIA ने कहा है कि सचिन वाजे को केस आरसी संख्या 01/2021/NIA/MUM के तहत आईपीसी की धारा 286, 465, 473, 506(2), 120 B और Explosive Substances Act 1908 की धारा 4(a)(b)(I) के तहत गिरफ्तार किया गया है. 

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वाजे को अदालत रविवार को अदालत में पेश कर सकती है. 

बता दें कि 25 फरवरी को उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास से कुछ दूर एक स्कॉर्पियो कार बरामद हुआ था जिसके अंदर जिलेटिन की छड़े रखी हुई थी. इस मामले की शुरुआती जांच करने वालों में सचिन वाजे शामिल थे. बाद में उन्हें इस केस से हटा दिया गया था और मामले की जांच NIA ने अपने हांथों में ले ली थी. 

सचिन वाजे के खिलाफ ठाणे के बिजनेसमैन मनसुख हिरेन की संदिग्ध मौत की भी जांच हो रही है. जो स्कॉर्पियो कार मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिली थी, उसके मालिक मनसुख हिरेन थे. मनसुख हिरेन मार्च 5 को मृत पाए गए थे. 

11.30 बजे से हो रही थी पूछताछ

शनिवार को 11.30 बजे सचिन वाजे दक्षिण मुंबई स्थित NIA के ऑफिस पहुंचे थे और अपना बयान दर्ज करवाया था.   

NIA ऑफिस जाने से पहले सचिन वाजे ने अपने व्हाट्सएप अकाउंट पर एक रहस्यमयी स्टेटस लगाया था. इसमें उन्होंने दावा किया था कि उन्हें इस केस में गलत तरीके से फंसाया जा रहा है.

शनिवार को सचिन वाजे का बयान लेने के दौरान NIA ने क्राइम ब्रांच के एसीपी नितिन अलाकनुरे, एटीएस एसीपी श्रीपद काले को भी तलब किया था और उनसे इस केस की प्रगति के बारे में जानकारी ली थी. 


SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: