जल्द ही सभी के लिए ऑल टाइम लोकल LOCAL - Hindmata Mirror

Monday, 8 February 2021

जल्द ही सभी के लिए ऑल टाइम लोकल LOCAL



 मुंबई. मुंबई (Mumbai) की लाइफलाइन (Lifeline) से सफ़र करने वाले आम यात्रियों को जल्द ही और राहत मिल सकती है। करीब 320 दिन बाद 1 फरवरी से आम लोगों को लोकल ट्रेन (Local Train) में निर्धारित समयानुसार यात्रा की इजाजत दी गई है। अब आने वाले 12 से 15  दिनों में आम लोगों को ऑल टाइम यात्रा की इजाजत मिल सकती है । ऐसे संकेत बीएमसी (BMC) के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी (Suresh Kakani) ने दिए हैं। 

मुंबई में सभी लोगों के लिए पिछले एक सप्ताह से शर्तों के अनुसार लोकल शुरू कर दी गई है। इससे अब भीड़ भी काफी बढ़ गई है। बताया गया है कि इस समय मध्य रेलवे पर 21 से 22 लाख यात्री, जबकि पश्चिम रेलवे पर 16  से 17  लाख लोग रोजाना यात्रा कर रहे हैं। सभी उपनगरीय स्टेशनों के ज्यादातर द्वार खोल दिए गए हैं । ज्यादातर  टिकट खिड़कियां और स्वचालित ‘टिकट वेंडिंग मशीन’ भी चालू कर दी गई हैं। 

बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त एवं स्वास्थ्य मामलों के प्रभारी सुरेश काकानी के अनुसार, सभी के लिए लोकल शुरू होने के बाद मुंबई में संक्रमण के मामले नियंत्रण में हैं। यदि अगले सप्ताह तक ऐसी स्थिति रही तो अगले 15 दिनों में सभी के लिए ‘ऑल टाइम’ लोकल शुरू की जा सकती है। इस समय आम लोगों को  निर्धारित समयानुसार ही लोकल में यात्रा की परमिशन दी गई है, जिसकी वजह से कार्यालयों और अन्य कामकाज के लिए लोकल यात्रियों को परेशानी हो रही है।  यात्री संगठनों ने भी सभी के लिए हर समय लोकल शुरू किए जाने की मांग करते हुए कार्यालयों के समय में बदलाव की मांग की है। वैसे स्टेशनों पर काफी भीड़ बढ़ गई है। स्टेशनों के सभी एंट्री और एक्जिट पॉइंट्स पर भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सुरक्षा रक्षकों को मेहनत करनी पड़ रही है। लोकल ट्रेन की सेवाएं आम लोगों के लिए दिन की सेवा शुरू होने से सुबह 7 बजे तक, फिर दोपहर 12 बजे से शाम 4  बजे तक और रात 9 बजे से अंतिम लोकल तक उपलब्ध हैं।

95 प्रतिशत लोकल शुरू  

पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर के अनुसार, आम जनता निर्धारित समय में  सेवाएं बहाल करने के लिए उपनगरीय रेलवे स्टेशनों पर सभी अधिकृत निकास-प्रवेश, लिफ्ट, एस्केलेटर और फुट ओवर ब्रिज खोल दिए गए हैं। पश्चिम रेलवे पर लगभग 1300 लोकल सर्विस चल रही है। अभी तक मुम्बई उपनगर नेटवर्क पर 2,985 लोकल ट्रेन सर्विस चल रही हैं, जो कुल सेवाओं की करीब 95 प्रतिशत है। लॉकडाउन से पहले सामान्य दिनों में मध्य रेलवे रोजाना 1,774 सेवाओं, जबकि पश्चिमी रेलवे 1,367 सेवाओं का संचालन करती थी। 

रोजाना यात्रियों की संख्या बढ़ रही है

मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार, रोजाना यात्रियों की संख्या बढ़ रही है। लोकल संचालन में निर्धारित नियमों का पालन किया जा रहा है। पैसेंजर फ्लो को मॉनिटर करने के लिए पर्याप्त संख्या में यूटीएस से टिकट निकालने की अनुमति समयानुसार दी गई है। 


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.

Ads 970x90