इन दो Shivsena नेताओं के नाम पर वसूली और फिरौती।



देश में इन दिनों नेताओं के नाम पर फर्जी अकाउंट बनाकर या धमकी देकर लोगों से फिरौती मांगने का नया ट्रेंड चल पड़ा है। इसी कड़ी में मंगलवार को शिवसेना के 2 बड़े नेताओं के नाम पर वसूली का प्रकरण सामने आया है। पहला मामला शिवसेना नेता नितिन नांदगांवकर से जुड़ा हुआ है। मुंबई पुलिस ने शिवसेना नेता नितिन नांदगांवकर (Shivsena nitin nandgaonkar) के नाम पर वसूली करनेवाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों को मुंबई और सतारा से गिरफ्तार किया गया है।



दरअसल एक बिल्डर ने यह कहते हुए एक व्यक्ति से लाखों रुपये लिए थे कि वह मकान देगा, लेकिन कई दिनों के बाद भी उसे घर और पैसे दोनों नहीं मिले। पीड़ित ने नितिन नंदगांवकर से मदद लेने का फैसला किया और फेसबुक के माध्यम से मदद मांगा। दोनों आरोपियों को जैसे ही इसका पता चला उन्होने इसका फायदा उठाने का फैसला किया। आरोपियों ने पीड़ित को फोन किया और कहा कि वह नितिन नांदगांवकर के कार्यालय से बोल रहा है, अगर वह बिल्डर से पैसे वापस लेना चाहता है, तो उसे हमारे हिस्से का भुगतान करना होगा। पीड़ित इसके लिए तैयार हो गया। आरोपियों ने खर्चे के नाम पर पीड़ित से 1.5 लाख मांगा जिसे पीड़ित ने दिया भी। लेकिन कुछ दिन बाद पीड़ित ने जब नितिन नांदगांवकर के कार्यालय में संपर्क किया तो पता चला कि कथित आरोपी नितिन नांदगांवकर के साथ काम नहीं करते हैं पीड़ित ने इसके बाद अपने आप को ठगा महसूस किया। इसके बाद MIDC पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है और आरोपियों को मुंबई और सतारा से गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपी सूरज निकम (24) और रोहित कांबले (19) हैं।

वहीं दूसरे मामले में दक्षिण मुंबई से शिवसेना सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत के नाम पर फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाकर उनके जान पहचान के लोगों से पैसे मांगने की बात सामने आई है। इसकी जानकारी सावंत को तब हुई जब उनके एक दोस्त ने फोन कर उनसे पैसे मांगने के बारे में पूछा। इसके बाद सावंत ने आरोपी के खिलाफ साइबर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। 


आरोपी ने फेसबुक पर उनकी तस्वीरों का इस्तेमाल कर सावंत ने नाम पर फर्जी अकाउंट बनाया है। इस एकाउंट के जरिए आरोपी ने सावंत के जान पहचान के लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी। जिन लोगों ने सावंत के फर्जी एकाउंट से आई फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली । उन्हें बाद में यह कहते हुए सावंत के नाम पर संदेश भेजे गए कि वे आर्थिक परेशानी का सामना कर रहे हैं। फिलहाल फोन से संपर्क नहीं कर सकते इसलिए सोशल मीडिया के जरिए संदेश भेज रहे हैं। संदेश में बताए गए खाते में पैसे ऑनलाइन भेजने को कहा गया था। लेकिन सावंत के एक दोस्त को इस पर संदेह हुआ तो उन्होंने तुरंत उन्हें फोन किया।सावंत ने बताया कि उन्होंने किसी से भी पैसे की मांग नहीं की है। इसके बाद सावंत ने अपने सोशल मीडिया एकाउंट के जरिए सभी लोगों को सावधान किया कि उनके नाम पर वे किसी को पैसे न दें। साथ ही उन्होंने साइबर पुलिस स्टेशन में मामले की शिकायत दर्ज कराई। फिलहाल यह साफ नहीं है कि ठग सावंत के किसी करीबी से पैसे ऐंठने में कामयाब हुए हैं या नहीं। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। यह पहली बार नहीं है जब सोशल मीडिया पर बड़े लोगों के नाम पर फर्जी एकाउंट बनाकर उनके जान पहचान के लोगों से पैसे ऐंठने की कोशिश हुई है। राजनेताओं के साथ वरिष्ठ अधिकारियों के नाम पर भी इसी तरह ठगी की कई शिकायतें पुलिस को मिली चुकी हैं।




Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget