महामारी के बीच में भी चल रही सोने की तस्करी


कोलकाता  : महात्मा गांधी की जयंती के दिन डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआइ) ने तस्करी कर लाये जा रहे 17.51 करोड़ रुपये का सोना जब्त किया. इसके साथ ही चार लोगों को गिरफ्तार भी किया. बताया गया है कि भारत-म्यांमार की सीमा से तस्करी कर ये सोने के बिस्कुट राजस्थान के श्रीगंगानगर भेजे जा रहे थे.
सूत्रों ने बताया कि डीआरआइ के अधिकारियों को मुखबिरों से सूचना मिली थी कि भारत-म्यांमार सीमा से करोड़ों रुपये मूल्य का सोना लाया जा रहा है. मणिपुर से सिलीगुड़ी के रास्ते सोना लाया जा रहा है, जिसकी डिलीवरी राजस्थान के श्रीगंगानगर में होने की सूचना है.
सूचना के आधार पर शुक्रवार को डीआरआइ की टीम ने सिलीगुड़ी में एक ट्रक को पकड़ा. ट्रक की जांच करने पर उसमें से सोने के 202 बिस्कुट मिले. इसका बाजार मूल्य करीब 17.51 करोड़ रुपये आंका गया है. सोने के बिस्कुट का कुल वजन करीब 33.53 किलो है.
डीआरआइ की टीम ने ट्रक में सवार चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. इनके खिलाफ कस्टम एक्ट 104 के तहत मामला दर्ज किया गया है. डीआरआइ के अधिकारियों ने बताया कि प्राथमिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि त्योहार का समय आ रहा है. ऐसे में सोना की मांग बढ़ रही है.
इन लोगों ने यह भी बताया कि सोना की डिलीवरी राजस्थान के श्रीगंगानगर में देनी थी. इस मामले में आरोपियों के अन्य साथियों का पता लगाया जा रहा है. डीआरआइ की ओर से बताया गया कि वित्त वर्ष 2019-20 में चलाये विभिन्न अभियानों में करीब 300 किलो सोना जब्त किये गये.
इतने सोना की कीमत करीब 115 करोड़ रुपये है. इस वर्ष दो अक्तूबर, 2020 तक करीब 98 किलो सोना जब्त किया जा चुका है. इतने सोना का बाजार मूल्य लगभग 52 करोड़ रुपये है.

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget