Sunday, 18 October 2020

लाखो रुपयों की लागत से निर्मित स्वतंत्र परीक्षण निदान केंद्र (RTPCR) जल्दी शुरू करें,मनसे ने दी आंदोलन करने की चेतावनी



उल्लासनगर : - शहर में कोरोना मरीजों की संख्या को देखते हुए, मनपा ने 4/5 माह पहले कोरोना संदिग्धों के स्वैब परीक्षण करने के लिए एक अलग आरटीपीआरसी लैब शुरू करने की घोषणा की थी। एक ओर उल्हासनगर मनपा प्रशासन शहर के नागरिको, व्यापारियों को एंटीजन टेस्टिंग के लिए आग्रह कर रही हैं और दूसरी ओर शहाड के कोणार्क रेसिडेन्सी के पास मनपा द्वारा 40/45 लाख रुपए की लागत और डेढ़ करोड़ का थर्मा फिशर कंपनी की अमेरिकन बनावट वाली आधुनिक मशीन निदान केंद्र धूल खाती पड़ी हैं । दावा किया गया था कि हर दिन 1000 लोगो की टेस्टिंग होगी परंतु केंद्र अभी तक शुरू नही हो पाया । जल्द से जल्द निदान केंद्र शुरू करने की मांग को लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना उल्हासनगर शहर की ओर से मनपा आयुक्त और उपायुक्त को ज्ञापन दिया गया।


ज्ञापन में लिखा है कि, नागरिकों को कोरोना परीक्षण के लिए मुंबई के प्रायोगिक केंद्रों पर निर्भर रहना पड़ता हैं। यदि यहा परीक्षण केंद्र शुरू होता है तो तत्काल परीक्षण करना और रिपोर्ट प्राप्त करना आसान हो जाएगा । साथही संक्रमण को रोकने में मदद होगी । ऐसा कहा जाता हैं कि किसी बड़े नेता के हाथों उद्घाटन की प्रतीक्षा में यह केंद्र यूही पड़ा है । मनपा प्रशासन द्वारा इस काम में देरी की जा रही है। मनसे परीक्षण केंद्र को तुरंत शुरू करने का आग्रह कर रही है ताकि शहर के नागरिक सरकार की सुविधाओं का लाभ उठा सकें। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने मनपा आयुक्त को चेतावनी देते हुए कहा कि, जल्द से जल्द परीक्षण निदान केंद्र शुरू किया जाए यदि सत्ताधारियों के द्वारा राजनीति की जा रही है तो शहर के नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए निष्क्रिय प्रशासन के खिलाफ मनसे आंदोलन करेंगे आयुक्त को इस बात पर ध्यान देना चाहिए । और उम्मीद है कि आम जनता के लिए इस परीक्षण निदान केंद्र को जल्द से जल्द शुरू किया जाएगा। इस मौके पर उप जिलाध्यक्ष प्रदीपजी गोडसे, शहर के आयोजक मैनुद्दीन शेख, संयुक्त सचिव प्रवीण मालवे, वातुक सेना शहर के अध्यक्ष कालू थोरात, उप शहर अध्यक्ष शैलेश पांडव, अनिलजी जाधव, विद्यार्थी सेना के कल्पेश माने, मंडल अध्यक्ष अक्षय धोत्रे, बादशाह शेख। कैलाश वाघ के साथ-साथ मनसे के पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.