Tuesday, 8 September 2020

12 साल के बेटे को मिली पिता के अवैध प्रेम संबंध की सजा, हत्या कर शव को केमिकल से जलाया

मुजफ्फरपुर. प्रेम के रोमांटिक त्रिकोण में अक्सर प्रेमी या प्रेमिका को कुर्बानी देनी पड़ती है, लेकिन बिहार के मुजफ़्फ़रपुर के प्रेम त्रिकोण में 12 साल के एक मासूम को कुर्बानी देनी पड़ी. मौत का शिकार मासूम गणेश कोई और नहीं बल्कि प्रेमी विनोद राय का बेटा था और उसका गुनाहगार प्रेमिका का पति कमल भगत. पुलिस ने पति-पत्नी और विनोद को गिरफ्तार कर लिया है. घटना जिले के करजा थाना के कांध करजा गांव की है. जानकारी के मुताबिक करजा थाना क्षेत्र के करजा कांध गांव में विनोद राय और ग्रामीण कमल भगत की पत्नी के बीच अवैध प्रेम संबंध चल रहा था. चुपके चुपके चल रहा प्रेम तब उजागर हुआ जब 3 सितंबर को दोनों भाग गए.
पत्नी को भगाने से आगबबूला कमल भगत ने विनोद राय के 12 साल के बेटे गणेश को अपना निशाना बनाया. 100 रुपये दिलाने के बहाने कमल भगत ने गणेश को अगवा कर लिया. बच्चे के अगवा होने की जानकारी जब परिजनों को मिली विनोद राय के पिता दरोगा राय के बयान पर कर्जा थाने में 4 सितंबर को ही प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी.
रविवार को करजा सटे सरैया थाना क्षेत्र के छितरी गांव में झाड़ी में एक शव मिला जो किशोर का लग रहा था. शव को केमिकल डालकर जला दिया गया था. सरैया थाना ने जब करजा थाना पुलिस को इसकी सूचना दी तो गणेश के परिजनों को लेकर पुलिस सरैया पहुंची. मौके पर पहुंचते ही चीख-पुकार मच गई क्योंकि परिजनों ने गणेश के शव को पहचान लिया.
पुलिस ने हालात को संभालते हुए शव को कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया. इस बीच करजा पुलिस ने कमल भगत उसकी पत्नी और विनोद राय तीनों को गिरफ्तार कर लिया. कड़ाई से पूछताछ में कमल भगत ने गणेश की हत्या की बात स्वीकार ली है.
कमल पर हत्या के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है. करजा थाना अध्यक्ष सरोज कुमार ने बताया है कि कमल भगत को उसके भाई बंधु भगत ने भी गणेश को अगवा करने और हत्या करने में सहयोग किया था. इस आधार पर बंधु भगत को भी गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस प्रेमी विनोद राय और प्रेमिका कमल भगत की पत्नी पर भी उचित कानूनी कार्रवाई कर रही है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.